नौ माह की गर्भवती को डंपर ने कुचला, बीच सड़क पर बच्ची ने दुनिया में रखा कदम, पास में पड़ी थी मां की लाश

नौ माह की गर्भवती को डंपर ने कुचला, बीच सड़क पर बच्ची ने दुनिया में रखा कदम, पास में पड़ी थी मां की लाश

FIROZABAD : यूपी के फिरोजाबाद में बीते गुरुवार को एक ऐसा हादसा हुआ है, जिसे जानने के बाद हर किसी का दिल सिहर उठेगा। यहां अपने पति के संग मायके जा रही आठ माह की गर्भवती महिला को तेज रफ्तार डंपर ने टक्कर मार दी। इस हादसे में महिला की मौत हो गई, वहीं उसका पेट फट गया और उसके गर्भ में पल रही बच्ची 5 फीट दूर जाकर सड़क पर गिर गई। वहां लोग यह देखकर हैरान रह गए कि बच्ची सही सलामत पेट से बाहर निकल आई। जहां बच्ची जीवित थी, वहीं कुछ दूरी पर उसकी मां की क्षत-विक्षत लाश पड़ी हुई थी। एक बच्ची को जन्म के बाद अपनी मां को देखना भी नसीब नहीं हुआ, वहीं जिसे आठ महीने तक गर्भ में रखा, उसे देखे बिना ही महिला चल बसी। फिलहाल नवजात बच्ची को राजकीय मेडिकल कॉलेज के ट्रामा सेंटर में भर्ती किया गया है

घटना बुधवार को नरखी थाना क्षेत्र के बरतारा गांव के पास की है। 26 वर्षीय गर्भवती कामिनी अपनी बाइक पर पति रामू के साथ कोटला फरिहा में अपने माता-पिता के घर जा रही थी, तभी हादसा हुआ। सामने से आ रही कार की चपेट में आने से बचने के प्रयास में रामू ने अपनी बाइक से नियंत्रण खो दिया। कामिनी नीचे गिर गई और पीछे से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने उसे कुचल दिया। जैसे ही वह ट्रक के नीचे आई उसका पेट फट गया और बच्ची सही-सलामत बाहर आ गई।

और सड़क पर हो गया बच्ची का जन्म
 इसी दौरान पीछे से आ रहे एक डंपर ने कामिनी के शरीर के ऊपरी हिस्सेको कुचल दिया, सड़क पर गिरने से जोर से लगे धक्के से महिला के निचले हिस्से पर दबाव बना और बीच सड़क पर बच्ची का जन्म हो गया। इसी दौरान महिला की मौत भी हो गई  डंपर द्वारा कुचलने से कामिनी के अंग भंग हो गए। सड़क पर हुए इस हादसे को जब लोगों ने देखा तो वो सिहर उठे, क्योंकि मां की मौत हो चुकी थी. वहीं पास में नवजात बच्ची किलकारी भर रही थी।

9 माह की प्रेग्नेंट थी कामिनी
हादसे के बाद रामू ने कहा कि मेरे आंखों के सामने ट्रक कामिनी के ऊपर से निकल गया और वह तड़प-तड़प कर मर गई। उसके शरीर में कुछ नहीं बचा था। वहीं, दूर जाकर गिरी मेरी बच्ची रो रही थी। उसने बताया, 'कामिनी 9 माह की प्रेग्नेंट थी। उसने मुझसे बुधवार सुबह बोला कि मायके वालों की याद आ रही है, मुझे वहां घुमा लाइए। बच्चा होने के बाद 4 महीने तक नहीं जा पाऊंगी। मैं उसको बाइक से लेकर घर से 9 बजे निकला। घर से ससुराल की दूरी 40 किलोमीटर होगी।'

गर्भ फटने के कारण महिला की मौत
बच्ची को तुरंत फिरोजाबाद जिला अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टर्स ने कहा कि बच्ची 'बिल्कुल ठीक है और अभी उसको इलाज की जरूरत है। जबकि मां कामिनी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मृतका के परिजनों का कहना है कि कामिनी की शादी 2 साल पहले हुई थी। महिला की मौत गर्भ फटने के कारण बताई जा रही है। घटना के संबधं में SHO ने कहा कि ट्रक ड्राइवर फरार हो गया और सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है। पति की शिकायत के आधार पर FIR दर्ज की जाएगी।



Find Us on Facebook

Trending News