हिंदुओं के गुस्से से डरी नीतीश सरकार ! रामचरितमानस पर JDU-RJD दो फाड़, CM के खास मंत्री बोले- देश में हमारी छवि 'हिंदू' विरोधी बनी

हिंदुओं के गुस्से से डरी नीतीश सरकार ! रामचरितमानस पर JDU-RJD दो फाड़, CM के खास मंत्री बोले- देश में हमारी छवि 'हिंदू' विरोधी बनी

PATNA : राम चरित मानस पर भले ही बिहार के शिक्षा मंत्री डा. चंद्रशेखर अपनी बात पर कायम हैं. लेकिन उनके विवादित बयान पर महागठबंधन में ही फाड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। मामले में बढ़ते विवाद के बाद  जदयू विधायक अशोक चौधरी ने सीधे-सीधे शिक्षा मंत्री की समझ पर सवाल उठा दिए हैं। 

शुक्रवार को इस मामले पर प्रेसवार्ता में अशोक चौधरी ने साफ कर दिया कि उनके बयान के कारण पूरे देश में महागठबंधन की पार्टियों को लेकर हिंदू विरोधी होने की छवि प्रस्तुत हुई है। लोगों के बीच यह संदेश गया है कि बिहार की नीतीश सरकार हिदूओं के खिलाफ काम करती है। जबकि इसमें कोई सच्चाई नहीं है। अशोक चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार सभी धर्मों और उनके धर्मग्रंथों का बराबर सम्मान करती है। हम  जानते हैं कि मुस्लिमों के लिए कुरान, ईसाईयों के लिए बाइबिल, सिख्खों के लिए गुरू ग्रंथ साहिब और हिन्दुओं के लिए रामचरित मानस जैसे ग्रथों से किस प्रकार आस्था जुड़ी है।

जदयू कभी भी इसको लेकर न कोई बयान देती है, न ही चंद्रशेखर जी के बयान का समर्थन करती है। अशोक चौधरी ने कहा राजद ने भले ही इसे शिक्षा मंत्री का व्यक्तिगत बयान कह कर पल्ला झाड़ लिया हो, लेकिन हम उनके बयान पर कड़ी आपत्ती जाहिर करते हैं।

शिक्षा मंत्री के समझ पर उठा दिया सवाल

रामचरित मानस पर बहस करने को तैयार शिक्षा मंत्री डा. चंद्रशेखर की समझ पर भी अशोक चौधरी ने बड़ा सवाल उठाया है। उन्होंने शिक्षा मंत्री द्वारा बताए गए रामचरित मानस के उन पंक्तियों का भी जिक्र किया है, जिसके बाद शिक्षा मंत्री ने धार्मिक ग्रंथ को नफरत फैलानेवाला बताया था। अशोक चौधरी ने उन पंक्तियों के एक एक शब्द का जिक्र करते हुए बताया कि यह पंक्ति कब और किस संदर्भ में कही गई है। लेकिन शिक्षा मंत्री ने इसे गलत तरीके से व्याख्या कर डाली। रामचरित मानस में उन पंक्तियों को दूसरे नजरिये को लिखा गया है। रामचरित मानस पर विश्वास आज का नहीं है, यह हजारों सालों से चला आ रहा है। 

शिक्षा मंत्री पर सीधा हमला करते हुए अशोक चौधरी ने कहा आपने चौपाई का जिक्र किया, लेकिन इस बात का जिक्र नहीं किया कि यह क्यों कही गई। आप शिक्षा मंत्री हैं, आपके ऐसे बयानों के कारण उन हजारों युवाओं में रामचरितमानस के प्रति भ्रम पैदा होगा। अशोक चौधरी ने इस दौरान राजद के बयान पर भी आश्चर्य जाहिर किया कि वह कैसे इस बयान को व्यक्तिगत विचार कह कर पल्ला झाड़ सकती है।

                             

Find Us on Facebook

Trending News