नीतीश कुमार ने तेजस्वी को सौंपा सबसे दमदार मंत्रालय, राजद के पास रोजगार सृजन के सारे विभाग

नीतीश कुमार ने तेजस्वी को सौंपा सबसे दमदार मंत्रालय, राजद के पास रोजगार सृजन के सारे विभाग

पटना. नया बिहार बनाने के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के आह्वान को साकार करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन्हें कई अहम विभागों की जिम्मेदारी दी है. मंत्रिमंडल विस्तार के बाद मंगलवार को सीएम नीतीश ने विभागों के बंटवारे में तेजस्वी पर बड़ा भरोसा जताते हुए उन्हें कई दमदार मंत्रालय का जिम्मा दिया है. 

दरअसल, नीतीश कुमार के पास मुख्यमंत्री के अलावा सामान्य प्रशासन, गृह, मंत्रिमंडल सचिवालय, निगरानी, निर्वाचन सहित ऐसे सभी विभाग जो किसी को आवंटित नहीं किए गए हैं वह रहेंगे। वहीं उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के पास स्वास्थ्य, पथ निर्माण, नगर विकास एवं आवास तथा ग्रामीण कार्य विभाग जैसे अहम विभागों का जिम्मा रहेगा। अगर देखा जाए तो तेजस्वी यादव को जिन विभागों का जिम्मा दिया गया है वे सब आम जन से जुड़े विभाग हैं. स्वास्थ्य को लेकर बिहार में किस प्रकार की बदहाल स्थिति है यह किसी से छिपी नहीं है. ऐसे में तेजस्वी पर अपनी सरकार को स्वास्थ्य विभाग के सहारे स्वस्थ करने की जिम्मेदारी होगी. यानी स्वास्थ्य विभाग के सहारे अगर वे राज्य में चिकित्सा क्षेत्र में बड़ा सुधार करते हैं तो यह उनकी बड़ी उपलब्धि होगी. 

इसी तरह पथ निर्माण विभाग राज्य की सडकों के कायाकल्प से जुड़ा सबसे अहम विभाग होता है. नीतीश कुमार राज्य की सड़कों की संवरी स्थिति को लेकर अक्सर अपनी सबसे बड़ी उपलब्धि बताते हैं. तो नीतीश की छवि और इस सरकार की छवि को सरपट सड़क बनाए रखकर तेजस्वी अहम जिम्मेदारी निभाते दिख सकते हैं. इसी तरह नगर विकास विभाग है. राज्य में तेजी से शहरीकरण की दिशा में काम हो रहा है. पटना सहित राज्य के कई अन्य शहरों को खूबसूरत और उच्च मानवीय सुविधाओं से युक्त बनाने का काम भी नगर विकास विभाग के पास होगा. इतना ही नहीं ग्रामीण कार्य विभाग भी बिहार के गांवों के विकास और वहां की जरूरतों को पूरा करने वाला विभाग है. बिहार देश के सबसे ज्यादा गांवों वाला राज्य है. तेजस्वी अपने पास इन विभागों को रखते हुए स्वास्थ्य, सड़क, शहर और गांव सबको संवारने का जिम्मा रखेंगे. साथ ही इन विभागों के अलावा कई अन्य विभाग जो राजद खेमे में हैं वह रोजगार सृजन की दिशा में बड़ी भूमिका निभाएंगे. 

इन दोनों के अलावा विजय कुमार चौधरी के पास वित्त विभाग, वाणिज्य कर एवं संसदीय कार्य विभाग तथा विजेंद्र प्रसाद यादव के पास ऊर्जा एवं योजना एवं विकास विभाग रहेगा। आलोक कुमार मेहता राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग संभालेंगे। वहीं लालू यादव के बड़े बेटे और तेजस्वी यादव के बड़े भाई तेजप्रताप यादव को पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग की जिम्मेदारी दी गई। 

मोहम्मद आफाक आलम को पशु एवं मत्स्य संसाधन, अशोक चौधरी को भवन निर्माण, श्रवण कुमार को ग्रामीण विकास,  सुरेंद्र प्रसाद यादव को सहकारिता, डॉ रामानंद यादव को खान एवं भूतत्व, लेशी सिंह को खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण, मदन सहनी समाज कल्याण , कुमार सर्वजीत को पर्यटन, ललित कुमार यादव को लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण, संतोष कुमार सुमन को अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण, संजय कुमार झा को जल संसाधन तथा सूचना एवं जनसंपर्क, शीला कुमारी को परिवहन, समीर कुमार महासेठ उद्योग, चंद्रशेखर शिक्षा विभाग होगा. 

सुमित कुमार सिंह को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, सुनील कुमार को मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन, अनीता देवी पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण, जितेंद्र कुमार राय को कला संस्कृति एवं युवा, जयंत राज को लघु जल संसाधन, सुधाकर सिंह को कृषि, जमा खान को अल्पसंख्यक कल्याण, मुरारी प्रसाद गौतम को पंचायती राज, कार्तिक कुमार को विधि, शमीम अहमद को गन्ना उद्योग, शाहनवाज को आपदा प्रबंधन, सुरेंद्र राम को श्रम संसाधन, इसराइल मंसूरी को सूचना प्रौद्योगिकी विभाग दिया गया है।


Find Us on Facebook

Trending News