बेगूसराय गोलीकांड की जांच CBI या NIA से कराने पर नीतीश कुमार ने ले लिया फैसला, भाजपा की मांग हुई टांय- टांय फिस्स

बेगूसराय गोलीकांड की जांच CBI या NIA से कराने पर नीतीश कुमार ने ले लिया फैसला, भाजपा की मांग हुई टांय- टांय फिस्स

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कहा कि बेगूसराय गोलीकांड में बिहार पुलिस की जांच तेजी से चल रही है. इस मामले में पुलिस जल्द ही सारी जानकारी देगी. भाजपा द्वारा मामले की जांच सीबीआई या एनआईए से कराने की मांग को नीतीश कुमार ने सिरे से नकारते हुए कहा कि जहाँ घटना घटी है वहां की पुलिस जांच कर रही है. अब तक की जांच पर पुलिस पूरी जानकारी देगी. उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग बेवजह कुछ भी बोलते रहते हैं. पुलिस की जांच में सारी बात सामने आ जाएगी. इसके बाद सब खुलासा हो जाएगा. 

दरअसल, बेगूसराय गोलीकांड में कहा जा रहा है कि पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसमें एक युवक केशव उर्फ़ नागा को जमुई जिले के झाझा स्टेशन से पकड़ा गया. वह मौर्य एक्सप्रेस में सवार होकर रांची भाग रहा था. वहीं गोलीकांड के अन्य आरोपितों सुमित, युवराज व अर्जुन को भी पकड़ने की बात कही जा रही है. अब इस मामले में पुलिस दोपहर बाद प्रेस कांफ्रेस करेगी. हालांकि केशव के परिजनों ने आरोप लगाया है कि उनके बेटे को पुलिस ने फर्जी तरीके से फंसाया है. केशव की माँ ने पुलिस पर उनके परिवार के खिलाफ साजिश रचने की बात कही है. 


वहीं केशव के परिजनों ने भाजपा सांसद राकेश सिन्हा से मिलकर उनके कथित निर्दोष बेटे को बचाने की अपील की थी. इस पर राकेश सिन्हा ने कहा कि पुलिस किसी निर्दोष को न फंसाए इसका ध्यान रखा जाए. वहीं कई भाजपा नेता इस ममले में बिहार पुलिस पर लीपापोती करने का आरोप लगा रहे है. जांच सही तरीके से होने के लिए इसे सीबीआई या एनआईए को सौपने की मांग की. लेकिन नीतीश कुमार ने उनकी इस मांग को सिरे से नकार दिया है. बेगूसराय सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इसकी जांच सीबीआई या एनआईए से कराने की मांग की थी. 

बता दें कि बेगूसराय में साइको किलरों ने जमकर उत्पात मचाया था। अपराधियों ने 30 किलोमीटर तक गोलीबारी की। इस दौरान जो भी मिले उन्हें गोली मार दी। अपराधियों ने इस दौरान 11 लोगों को गोली मारी दी। इसमें एक लोगों की मौत हो गयी, जबकि 10 अन्य लोग घायल है, जिनका इलाज चल रहा है।वहीं बेगूसराय पुलिस ने घटना को गंभीरता से लेते हुए लापरवाही बरतने के आरोप में सात पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। घटना को लेकर फुलवडिया थाना के शशिभूषण सिंह, जीरोमाइल ओपी के मुकरु हेम्ब्रम, चकिया ओपी के विनोद प्रसाद, तेघड़ा थाना के कृष्ण कुमार, एफसीआई ओपी के रमेंद्र कुमार यादव, बरौनी थाना के संजय कुमार और बछवाड़ा थाना के रामकिशोर सिंह को लापरवाही बरतने के आरोप में तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।


Find Us on Facebook

Trending News