एक पर एक फ्री स्कीम ! जनता को एक पलटूराम के साथ दूसरा पलटूराम फ्री में मिला, BJP ने तेजस्वी के 10 लाख सरकारी नौकरी देने के सीक्रेट फार्मूले का किया खुलासा

एक पर एक फ्री स्कीम ! जनता को एक पलटूराम के साथ दूसरा पलटूराम फ्री में मिला, BJP ने तेजस्वी के 10 लाख सरकारी नौकरी देने के सीक्रेट फार्मूले का किया खुलासा

पटना. बिहार में सत्ता गंवाने के बाद भाजपा अब न सिर्फ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बल्कि उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को भी उनके जनता से किए वादे याद दिला रही है. साथ ही एनडीए से नाता तोड़ने पर जहाँ सीएम नीतीश को पलटूराम कह रही है वहीं अब तेजस्वी को भी उसी श्रेणी में खड़ा कर दिया है. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने शुक्रवार को तेजस्वी के एक बयान का हवाला देकर कहा कि चुनाव के वक्त बिहार के युवाओं को एक सपना दिखाया गया था कि राजद की सरकार बनेगी तो 10‌लाख सरकारी नौकरियां पहले ही कैबिनेट में पास करा दी जाएगीं।

उन्होंने कहा कि तेजस्वी से हम लगातार नौकरी का वह सीक्रेट फार्मूला पूछते रहे पर उन्होंने हमें नहीं बताया । अब जब राजद को सत्ता मिल गई है तब इस सीक्रेट फार्मूला का खुलासा उन्होंने खुद अपने इंटरव्यू में किया है। दरअसल तेजस्वी ने एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्होंने मुख्यमंत्री बनने पर 10 लाख नौकरी देने का वादा किया न कि उप मुख्यमंत्री बनने पर. इसी को लेकर जायसवाल ने उन्हें निशाने पर लिया. 

उन्होंने कहा,  पहली बार नियोजित शिक्षकों ने भी पोस्टल बैलट में राजद को वोट देने का काम किया उनको भी शुभकामनाएं। जितने भी बिहार के संविदा कर्मी हैं जिनकी नौकरियां अब स्थाई और समान वेतनमान होने जा रहा है उनको भी शुभकामनाएं। बिहार की जनता को एक पलटू राम के साथ दूसरा पलटू राम मुफ्त में मिल गया अर्थात एक पर एक फ्री स्कीम।

हमने भी अपने घोषणापत्र में 10 लाख नौकरियों का वादा किया था और उसके लिए लगातार बिहार का औद्योगिकरण हम कर रहे थे। कोई ऐसा बिहार का जिला नहीं है जहां पर हमने उद्योग लगाने की दिशा में काम करना शुरू नहीं किया था।  एथनाॅल पॉलिसी, टेक्सटाइल  एंड लेदर पॉलिसी , के साथ पश्चिम चंपारण के रतवल में मेगा टैक्सटाइल पार्क जिस्मे एक लाख नौकरियां मिलती के लिए केंद्र सहित सभी उद्योगपतियों से बात कर लिया था। उन्होंने कहा कि नीतीश जी को कभी औधोगिक योजनाएं पसंद नहीं आती थी और अब जो सरकार बनी है उसमें कोई उद्योगपति नहीं आएगा।

वहीं जायसवाल ने शुक्रवार को  रक्सौल अनुमंडल कार्यालय के बगल में आयोजित महाधरना में भाग लिया. नीतीश के एनडीए से नाता तोड़ने को लेकर भाजपा ने "जनादेश से विश्वासघात पर महाधरना" का आयोजन किया जिसमें पूर्व उप मुख्यमंत्री रेणु देवी सहित कई नेता शामिल हए.


Find Us on Facebook

Trending News