भभुआ नगर परिषद के पूर्व कार्यपालक पदाधिकारी और जूनियर इंजीनियर की गिरफ्तारी के आदेश जारी, कार्रवाई की तैयारी में जुटी पुलिस

भभुआ नगर परिषद के पूर्व कार्यपालक पदाधिकारी और जूनियर इंजीनियर की गिरफ्तारी के आदेश जारी, कार्रवाई की तैयारी में जुटी पुलिस

KAIMUR : भभुआ नगर परिषद के कार्यपालक पाधिकारी और जूनियर इंजीनियर राहुल सिंह को गिरफ्तारी का आदेश जारी किया है। उक्त आदेश भभुआ डीएसपी सुनीता कुमारी ने जारी किया। बताया गया कि दोनों पर ठेकेदार के जहर देकर जान से मारने का आरोप था, जिसमे कोर्ट के आदेश पर भभुआ थाने में दर्ज किया गया था।  अब दोनों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस तैयारी कर रही है।

एफएसएल जाँच रिपोर्ट में जहर की हुई पुष्टि

मामला वर्ष 1 जून 2020 का है जब भभुआ नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी अनुभूति श्रीवास्तव ने अपने घर  बुलाने पर पहुँचे थे ठीकेदार वेद प्रकाश उर्फ राजेश कुमार जिसको नींबू पानी में जहर दिया गया।  जिसके बाद उसकी तबीयत खराब हो गई तो भभुआ के एक निजी अस्पताल में इलाज कराया गया। उसके बाद पीड़ित ने भभुआ थाने में मामला दर्ज कराने के लिए आवेदन दिया थाऔर पीड़ित ठीकेदार का खून और पेशाब का सेम्पल एफएसएल को भेजा गया थ। ,जब पीड़ित ने भभुआ कोर्ट में परिवाद पत्र दिया तो तत्काल थाने में मामला दर्ज किया गया और एफएसएल की रिपोर्ट पर भभुआ डीएसपी ने भभुआ नगर परिषद के तत्कालिक कार्यपालक पदाधिकारी अनुभूति श्रीवास्तव और जूनियर इंजीनियर राहुल सिंह को गिरफ्तारी का आदेश जारी किया।

करोड़ों के गबन का भी है आरोप

बता दें कि ठेकेदार को जहर देने में कार्यपालक पदाधिकारी और उनके साथ साजिश करने का जूनियर इंजीनियर पर आरोप है, यह वही भभुआ के कार्यपालक पदाधिकारी है जिनपर 22 करोड़ का ग़बन का आरोप भभुआ नगर परिषद के पूर्व सभापति बजरंज बहादुर उर्फ मलाई सिंह ने आरोप लगाया था। उसके बाद अनुभूति श्रीवास्तव का तबादला हाजीपुर नगर परिषद में कार्यपालक पदाधिकारी पर हो गया था। इनपर  बक्सर,भोजपुर में गबन का आरोप तीनों जगहो पर अब तक एक करोड़ से भी ज्यादा का गबन करने का आरोप है। बिहार सीएम के जनता दरबार में पूर्व भभुआ नगर सभापति ने गुहार लगाई तो कार्यपालक पदाधिकारी अनुभूति श्रीवास्तव को सस्पेंड किया गया। उनके कई जगहों पर आय से ज्यादा की सम्पत्ति मिली देश के कई राज्यो में फ्लैट का पता चला। साथ ही दुबई में भी उनके नाम से फ्लैट का पता चला। 

वेद प्रकाश उर्फ राजेश कुमार ने बताया कि जब भभुआ नगर परिषद के कार्यपाल पदाधिकारी थे तो हम भी नगर परिषद में ठेकेदारी करते थे उसी समय उनके सम्बन्ध हो गया। उनकी पत्नी नलिनी प्रकाश के एक कम्पनी में पार्टनर थे उसी सिलसिले में उनके आवास आना जाना था , एक दिन जब आवास बुलाए और नीम्बू पानी दिए जब पीने के बाद मेरी तबियत खराब होने लगी तो तत्काल मैं भभुआ के निजी अस्पताल में इलाज कराया मुझे पूर्ण विश्वास हो गया कि नीम्बू पानी मे जहर दिया गया है।

 मुझे जान से मारने के लिए मैने भभुआ थाने में लिखित आवेदन दिया साथ ही खून और पेशाब का सेम्पल एफएसएल को भेजा गया,आज कोर्ट के आदेश पर प्राथमिकी दर्ज किया गया है एफएसएल जाँच रिपोर्ट में जहर की पुष्टि हुई है,गिरफ्तारी का आदेश भी निकला है,हम चाहते है कि जल्द कार्रवाई हो। भभुआ डीएसपी सुनीता कुमारी ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर प्राथमिकी दर्ज की गई है,एफएसएल की रिपोर्ट में जहर देने का पुष्टि हुई है ,पूर्व कार्यपालक पाधिकारी की गिरफ्तारी का आदेश जारी हुआ है,आगे की कार्रवाई जारी है ।


Find Us on Facebook

Trending News