ओवरलोड के लिए हम दोषी नहीं, सरकार के अधिकारी और बाबू जिम्मेदार, प्रतिबंध पर बोले ट्रक संगठन

ओवरलोड के लिए हम दोषी नहीं, सरकार के अधिकारी और बाबू जिम्मेदार, प्रतिबंध पर बोले ट्रक संगठन

सुपौल। बिहार की सड़कों पर 14 या उससे अधिक चक्कों वाले ट्रकों पर लगे प्रतिबंध को लेकर सुपौल जिला ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन समाहरणालय में धरने पर बैठे हुए हैं। इन ट्रक चालकों ने कहा बिहार सरकार द्वारा सड़कों पर ओवरलोड गाड़ियों के परिचालन पर रोक हम समर्थन करते हैं, लेकिन इस निर्णय से सिर्फ ट्रक चालकों को नुकसान उठाना पड़ेगा। ओवरलोड के लिए ट्रक चालक नहीं हैं,  सबसे बड़े दोषी सरकार के अपने अधिकारी और बाबू हैं, जिनके संरक्षण में ओवरलोडिंग का खेल बदस्तूर चल रहा है, कार्रवाई उन पर होनी चाहिए। 

 इस तरह ट्रक परिचालन लोडिंग बंद कर देने से व्यापार पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा इसके लिए ट्रक मालिक जिम्मेदार नहीं है कुछ बालू माफिया जिम्मेदार है यह अपना ट्रक चलवा कर प्रशासन की मिलीभगत से ओवरलोडिंग का खेल चला रहे हैं जिस कारण सारे ट्रक मालिक बदनामी के घेरे में है इस निर्णय से करीब 1 पॉइंट 5 करोड़ लोग बेरोजगारी एवं भुखमरी के शिकार हैं।

धरना कर रहे ट्रक मालिकों ने धरना के माध्यम से हम से मांग करते हैं कि कृपया इस अधिसूचना को वापस लेने की कृपा करते हुए पूर्व की भांति ट्रकों के परिचालन की अनुमति दी जाए साथ ही जो ट्रक क्षमता से अधिक लालन करते हैं उनका निबंधन रद्द कर दिया जाए साथ ही वैसे परिवहन विभाग के पदाधिकारी जिन के संरक्षण में ओवरलोडिंग हुआ है या उनके कार्य क्षेत्र के जिला में ट्रक प्रवेश करती है उनके विरुद्ध आपराधिक मुकदमा दर्ज कर उन्हें सेवा मुक्त किया जाए इस धरने में मोहम्मद जिया उर्रहमान हम आनंद कुमार राज कुमार सुशील कुमार मसीन आलम सुजीत कुमार शैलेंद्र यादव राहुल पासवान संजय कुमार सिंह अजय सिंह मोहन कुमार सिंह अनिल प्रसाद बैजनाथ भाग कृष्ण मुरारी यादव आदि शामिल हैं। 

 

Find Us on Facebook

Trending News