हाजीपुर हादसे में मारे गए लोगों से मिले पप्पू यादव, मृतक की बेटी की शादी कराने का किया वादा

हाजीपुर हादसे में मारे गए लोगों से मिले पप्पू यादव, मृतक की बेटी की शादी कराने का किया वादा

HAJIPUR : हाजीपुर के  पातेपुर बहुआरा चौक पर  अनियंत्रित तेज रफ्तार हाइवा ट्रक सड़क किनारे बने मिठाई की दुकान में बुधवार की दोपहर में घुस गया था , हादसे में 4 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई थी और दर्जन से अधिक लोग बुरी तरह से जख्मी हो गए थे . घटना के बाद पूरे इलाके में अफरातफरी का माहौल बन गया था और लोग सड़क जाम कर भारी हंगामा किया था। वहीं मौत में मरनेवालों की संख्या को लेकर भी विवाद हो गया है। जहां सरकार हादसे में मरनेवालों की संख्या तीन बता रही है, वहीं स्थानीय विधायक यह संख्या आठ बता रहे हैं। जिसके बाद अब जाप सुप्रीमो ने सरकार पर हमला बोल दिया>

इससे पहले जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव गुरुवार को  पूरे लाव लश्कर के साथ हादसे में मरने वाले व्यक्ति के परिजन के घर पहुंच गए  . पप्पू यादव पहले घटनास्थल का मुआयना किया जिसके बाद मृतक व्यक्ति के परिजनों के घर बारी बारी से पहुंचे . मृतक व्यक्ति के परिजनों से मिलेवहीं मृतक के परिजन पप्पू यादव से लिपट कर  सेक्सी कर रोते बिलखते दिखे . गरीबों का मसीहा कहे जाने वाले पप्पू यादव ने सड़क हादसे में मरने वाले सभी मृतक के परिजनों को 25-25 हजार नगद कैश दिया है . सरकार से ₹20 लाख का मुआवजा  की मांग की है। इस दौरान जाप नेता ने भरोसा दिया कि वह  मृतक व्यक्ति के बेटी के शादी में खुद शादी में शामिल होंगे और अपनी देखरेख में कराएंगे।

लेकिन पप्पू यादव ने इस हादसे पर सवाल खड़ा कर दिया है क्योंकि स्थानीय बीजेपी विधायक का कहना है कि इस हादसे में 8 लोगों की मौत हुई है वहीं मुख्यमंत्री कार्यालय से 3 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है और स्थानीय प्रशासन भी तीन लोगों की मौत बतला रही है  जबकि  (1) मुकेश कुमार पिता देवेंद्र साहनी , (2) मोहब्बत मुबारक पिता मोहम्मद कयूम  वैशाली जिले के रहने वाला है (3) जगमाया देवी पति मनीष चौधरी (4) पंकज कुमार पिता रविंदर चौधरी जो समस्तीपुर जिले के रहने वाले थे जिनकी सड़क हादसे में मौत  हुई है । 

पप्पू यादव ने स्थानीय प्रशासन पर सीधे आरोप लगाया है कि जब स्थानीय विधायक कर रहे हैं कि 8 लोगों की मौत हुई है तो यहां के प्रशासन डेड बॉडी को गायब कर दिया है जल्द ही इस मामले में स्पीडी ट्रायल ट्रायल कर इस मामले की जांच होनी चाहिए. और यह बड़ी घटना ड्राइवर के शराब पीने के वजह से हुई है सरकार जल्द से जल्द शराबबंदी जैसे कानून पर एक कठोर कदम उठाए और इस कानून पर पहल करें।

गृह राज्य मंत्री पर भड़के

इतनी बड़ी घटना होने के बाद स्थानीय सांसद नित्यानंद राय भी सुध लेने का उचित नहीं समझा  यह बेहद शर्मनाक है  वैशाली जिले से कई विधायक मंत्री नेता और मुख्यमंत्री तक बने हैं यहां के जनता के सहयोग से और इतनी बड़ी घटना होती है ना तो सत्ता पक्ष और विपक्ष के कोई नेत इन लोगों का दूध लेने का काम करते हैं सभी नेता और अधिकारी दारू और बालों में लगे हुए हैं जनता मरे या जिए उससे कोई मतलब नहीं है किसी को  ।

Find Us on Facebook

Trending News