सांत्वना देने पहुंचे पप्पू यादव पीड़ित परिवार का दर्द सुनकर खुद रो पड़े, कहा- स्पीडी ट्रायल कर दोषियों को सजा दिलाएं डीजीपी

सांत्वना देने पहुंचे पप्पू यादव पीड़ित परिवार का दर्द सुनकर खुद रो पड़े, कहा- स्पीडी ट्रायल कर दोषियों को सजा दिलाएं डीजीपी

मुजफ्फरपुर:  जाप सुप्रीमे पप्पू यादव मुजफ्फरपुर पहुंचे।  जिले के साहेबगंज विधानसभा के बंगरा निजावत पंचायत के पकड़ी गांव निवासी मंटू तिवारी के परिवार से मुलाकात की। नम आंखों से पूरा परिवार शोकाकुल होकर अपनी बात पप्पू यादव से कही। बच्चों को सीने से लगाकर पप्पू यादव भी फफक फफक कर रो पड़े। सांत्वना देने पहुंचे जाप सुप्रीमों ने परिवार को बहुत हिम्मत दिलाने की कोशिस की मगर खुद ही रो पड़े। पप्पू यादव ने बताया कि बीते दिनों कुछ दबंगों ने पेड़ में बांधकर पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। आज हम उनके शोकाकुल परिवारों से मुलाकात कर उनका हालचाल जाने। मंटू तिवारी के नहीं रहने से यह परिवार पूरा तरीका से टूट चुका है। उनकी पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है। उनके तीन छोटी-छोटी बेटी और एक बेटा हैं। उन सभी पर से पिता का साया उठ चुका है। इस घटना को लेकर हम बिहार के डीजीपी से मुलाकात करेंगे और इस मामले को जल्द से जल्द स्पीडी ट्रायल करके दोषियों को सजा दिलवा देंगे।

गौरतलब है कि साहेबगंज थाना क्षेत्र के पकड़ी असली गांव में बुधवार की दोपहर तीन बजे बंगरा निजामत निवासी 35 वर्षीय मंटू तिवारी उर्फ मनोज तिवारी को गोली मार दी। खबर सुनकर स्वजन घटनास्थल पर पहुंचे तथा खून से लथपथ मंटू तिवारी को पीएचसी ले गए जहां चिकित्सकों ने परीक्षण के बाद मृत घोषित कर दिया। मौत से आक्रोशित लोग पीएचसी से शव लेकर नीम चौक पहुंचे तथा स्टेट हाईवे को जाम कर दिया था। घटना की सूचना पर एसडीओ पश्चिमी तथा एसडीपीओ सरैया वहां पहुंचे तथा लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन लोग मानने को तैयार नहीं हुए थे। आक्रोशित लोग वरीय पुलिस पदाधिकारी को बुलाने की मांग कर रहे थे। मृतक की पत्नी सुजाता तिवारी ने बताया कि पति मंटू तिवारी डीजल लेने के लिए साहेबगंज जा रहे थे। 

एक ग्रामीण उन्हें अपने साथ चलने को कहते हुए साथ बुलाकर ले गए। पकड़ी असली गांव के देवेंद्र सिंह से विवाद चल रहा था। मंटू तिवारी को उनके दरवाजे ले जाकर योजनाबद्ध तरीके से पहले जमकर पिटाई की गई, फिर सिर में गोली मार कर हत्या कर दी गई। गांव में कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं था, लेकिन हत्या का कारण पूर्व रंजिश माना जा रहा है। मंटू तिवारी ट्रैक्टर तथा जेसीबी रखकर चलवाते थे। पिछले दिनों मिट्टी काटने को लेकर पकड़ी के देवेंद्र सिंह से विवाद हुआ था जिसमें देख लेने की धमकी दी गई थी। पीएचसी के चिकित्सक के अनुसार मृतक के सिर में दो गोली लगने के निशान मिले हैं। पुलिस इस घटना को लेकर दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। उधर, पकड़ी में आक्रोशित लोगों ने देवेंद्र सिंह के बथान पर आग लगा दी जिसे पुलिस ने नियंत्रित किया।

Find Us on Facebook

Trending News