आरसीपी सिंह को राज्यसभा नहीं भेजे जाने पर बोले पप्पू यादव, बीजेपी की गोद में बैठकर बिहार की आवाज नहीं बन सके

आरसीपी सिंह को राज्यसभा नहीं भेजे जाने पर बोले पप्पू यादव, बीजेपी की गोद में बैठकर बिहार की आवाज नहीं बन सके

PURNEA : जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने आगामी 2024 लोकसभा चुनाव की तैयारी को लेकर बड़ा बयान दिया है। इसी कड़ी में कांग्रेस पार्टी में शामिल होने पर पप्पू यादव 4 तारीख को राज्य कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की गयी है। इसके बाद चिंतन शिविर होगा, जिसमें वे कांग्रेस पार्टी में शामिल होने का फैसला कर सकते हैं। पूर्णिया पहुंचे पप्पू यादव ने प्रेस वार्ता में स्पष्ठ रूप से कहा कि 4 तारीख को चिंतन शिविर के बाद फैसला लिया जाएगा। 

हालांकि पप्पू यादव ने कहा की यह कांग्रेस तय करेगी वे किधर जाए। आगामी 2024 लोक सभा चुनाव के मद्देनजर ये अहम निर्णय होगा। गौरतलब है कि पप्पू यादव की पत्नी रंजीत रंजन कांग्रेस कोटे से राज्यसभा के लिए मनोनीत की गई हैं। जिसके बाद पप्पू यादव का कांग्रेस प्रेम भी किसी से छुपा नहीं है। 

वहीँ आरसीपी सिंह को राज्यसभा नहीं भेजे जाने पर पप्पू यादव ने कहा की न जाने कौन सा छुरा उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पीठ में भोंका हैं। गिरगिट को भी रंग बदलने में देर लगता है। उनके गुरु नरेन्द्र मोदी हो गए। जिन्होंने आरसीपी सिंह को कहाँ से कहाँ पहुंचा दिया। हर नेता विश्वास चाहता हैं। लेकिन वे विश्वासी नहीं होंगे। बीजेपी के गोद में बैठकर भी बिहार की आवाज नहीं बन सके। उन्हें जातीय जनगणना पर बोलना चाहिए था। लालू यादव केंद्र में मंत्री थे। इसके बावजूद जातीय जनगणना नहीं करा पाए। न ही बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिला पाए।

पूर्णिया से तहजीब की रिपोर्ट 

 

Find Us on Facebook

Trending News