पटना पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा था ऐसा रसूखदार पाकेटमार,महंगी गाड़ी,महंगे फोन और ब्रांडेड कपड़े,बच्चों को बड़े स्कूल में तालीम

पटना पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा था ऐसा रसूखदार पाकेटमार,महंगी गाड़ी,महंगे फोन और ब्रांडेड कपड़े,बच्चों को बड़े स्कूल में तालीम

पटना : एक कहावत है बिहार में अरे एकदम पॉकेटमार है, मतलब समझ लीजिए की पॉकेट मार से तात्पर्य है कि बहुत निचले दर्जे का चोर जो अपने अपने ग्राहक को कम से कम आर्थिक क्षति पहुंचाता है, लेकिन जिस पॉकेटमार को पटना पुलिस ने गिरफ्तार किया वो रसूखदार निकला.

उसकी हैसियत देख पटना पुलिस की आंखें फटी रह गईं. रहने सहने के स्टाइल से पुलिस वालों को ऐसा लगा की पॉकेट मार शब्द की परिभाषा ही बदल दी जाए ।जी हां ज्ञान भवन में हो रहे एक समारोह में आए कार्यकर्ताओं का पैकेट मारने पहुंचे दो पॉकेटमारों की जब गिरफ्तारी हुई तो किसी ने सोचा भी नहीं था कि यह पॉकेट मार पटना के बीचों-बीच शहर में एक शानदार फ्लैट में पिछले 9 साल से अपने परिवार के साथ ऐशो आराम के साथ रहता है।

ब्रांडेड कपड़े महंगे मोबाइल फोन और महंगी गाड़ी मोहम्मद सनोबर व उसके दोस्त मोहम्मद वकील का शगल है।रईस इकट्ठा तक देख बड़े-बड़े रईसों का पांव तले से जमीन खिसक जाएगा। पुलिसिया पूछताछ में मोहम्मद सनोबर ने बताया भागलपुर जिले का रहने वाला है और पाकिस मारी के बदौलत हैं गांधी मैदान इलाके में एक अपार्टमेंट में फ्लैट लेकर अपने परिवार के साथ रहता है इतना ही नहीं मोहम्मद सनोबर अपने दोनों बच्चों को शहर के एक नामी स्कूल में तालीम भी दिलवाता है. उसने यह भी बताया कि हमारे साथ रहने वाला दूसरा पाकिटमार मुखिया मोहम्मद वकील भी पटना में शानदार ढंग से रहता है.

मोहम्मद वकील और सनोबर दोनों पाकेटमारों ने एक गिरोह बना रखा है जो शहर में विभिन्न जगहों पर जाकर पाकिटमारी करता है. उसी के बदौलत वह अपने परिवार और खुद का शौक पूरा करता है. मोहम्मद वकील ने बताया कि वह पटना में 9 सालों से रह रहा है. एग्जीबिशन रोड में वह पहली बार एक व्यापारी पर हाथ साफ कर अच्छा खासा रकम हासिल किया था. उसके बाद से उसने पीछे मुड़ कर नहीं देखा. खुद तो इस मे फँसा ही साथ में शानदार जिंदगी का सपना दिखाकर के कई युवाओं को भी पॉकेटमारी की गन्दी गलियों में ढकेल दिया।

Find Us on Facebook

Trending News