पटना की शिक्षिका ने PM मोदी को लिखा पत्र, भाजपा MLA संजीव चौरसिया पर गुंडों को संरक्षण देने का आरोप,कहा-जीना हो गया है मुहाल

पटना की शिक्षिका ने PM मोदी को लिखा पत्र, भाजपा MLA संजीव चौरसिया पर गुंडों को संरक्षण देने का आरोप,कहा-जीना हो गया है मुहाल

PATNA: राजधानी पटना में कुछ समय पहले दबंगों ने निजी स्कूल की शिक्षिका के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया था।शिक्षिका ने थाने में केस भी दर्ज कराई लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।अब उल्टे आरोपी को बचाने के लिए बीजेपी के विधायक सामने आ गये हैं.दीघा से बीजेपी विधायक संजीव चौरसिया के खिलाफ पीड़ित शिक्षिका ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा है. शिक्षिका ने पीएम को भेजे पत्र में कहा है कि भाजपा विधायक संजीव चौरसिया महिलाओं की इज्जत से खिलवाड़ करने वालों शख्स को संरक्षण दे रहे हैं. ऐसे विधायक के खिलाफ भाजपा को कार्रवाई करनी चाहिए। 

महिला टीचर ने पीएम से लगाई गुहार
गर्दनीबाग की एक निजी गर्ल्स स्कूल की शिक्षिका ने पीएम मोदी को भेजे लेटर में कहा है कि दीघा के भाजपा विधायक संजीव चौरसिया  शिक्षिका के साथ शारीरिक छेड़छाड और हत्या-बलात्कार की धमकी देने वाले एक दबंग को संरक्षण दे रहे हैं. हद हो गई जब विधायक जी थाना से लेकर महिला आयोग में खुद जाकर छेड़छाड़ के आरोपी को बचाने की पैरवी कर रहे हैं. ऐसे में आरोपी का मनोबल और बढ़ गया है । महिला शिक्षिका ने प्रधानमंत्री को लिखे गये पत्र में कहा है कि बीजेपी के विधायक संजीव चौरसिया इस मामले के आरोपी अविनाश कुमार उर्फ मंटू को संरक्षण दे रहे हैं. शिक्षिका के पत्र के मुताबिक विधायक संजीव चौरसिया  महिला उत्पीड़न जैसे गंभीर मामले के आरोपी को अपने साथ लेकर महिला आयोग पहुंचे और कार्रवाई रोकने का दबाव बनाया. शिक्षिका ने कहा कि एक ओर प्रधानमंत्री महिलाओं को सशक्त बनाने और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा दे रहे हैं वहीं उनकी पार्टी के विधायक महिला उत्पीड़न के आरोपी को खुलेआम संरक्षण दे रहे हैं. विधायक के संरक्षण के कारण आरोपी हर रोज धमकी दे रहा है और पूरा प्रशासनिक और पुलिस तंत्र खामोश बैठा हुआ है. 

पीड़िता ने प्रधानमंत्री से अपनी पार्टी के विधायक संजीव चौरसिया के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गयी है.पत्र में कहा गया है कि वे अपनी पार्टी के विधायक को उन आदर्शों को बतायें जिसकी बात नरेंद्र मोदी खुद करते हैं. पत्र अमित शाह, जे.पी. नड्डा एवं दल के दूसरे नेताओं को भी भेजी गयी है.

जानिए पूरा मामला

बता दें कि, पटना के गर्दनीबाग के साधनापुरी के एक स्कूल में पढ़ाने वाली शिक्षिका ने पिछले महीने ही थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी थी.केस में उस इलाके की वार्ड पार्षद के पति अविनाश कुमार उर्फ मंटू पर बेहद गंभीर आरोप लगाये थे. महिला शिक्षिका ने कहा कि अविनाश कुमार उर्फ मंटू ने उनके साथ शारीरिक छेडछाड़ की और बलात्कार-हत्या की धमकी दी. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. इस घटना के लगभग दो महीने बाद भी आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होने से परेशान पीडिता ने राज्य महिला आयोग में गुहार लगायी थी. महिला आयोग ने दोनों पक्ष को बुलाया है।



Find Us on Facebook

Trending News