पूर्व एमएलसी अनवर अहमद को लेकर गरमाई राजनीति, बीजेपी ने दी गिरफ्तार करने की चुनौती, हम ने कहा-बिहार में सुशासन की सरकार है

पूर्व एमएलसी अनवर अहमद को लेकर गरमाई राजनीति, बीजेपी ने दी गिरफ्तार करने की चुनौती, हम ने कहा-बिहार में सुशासन की सरकार है

PATNA : बिहार सरकार के पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने कहा कि थाने पर हमला कर अपराधी को छुडा ले जाने वाली भीड़ राजद समर्थकों की थी और अपराधियों के बचाव में थाना पहुँच कर डीएसपी की वर्दी फाड़ने वाला शख्स लालू प्रसाद के "कबाब मंत्री" पूर्व एमएलसी अनवर अहमद का बेटा अशरफ अहमद था। उन्होंने कहा कि अनवर अहमद अपने दबंग बेटे को बचाने थाना पहुँचे थे और वहाँ उन्होंने पुलिस से गाली-गलौज की, धमकियाँ दीं। लेकिन राजनीतिक दबाव में उन्हेंं थाने से ही बाइज्जत जाने दिया गया। ऐसे मामले में पूर्व एमएलसी अनवर की तुरंत गिरफ्तारी होनी चाहिए। 

सुशील मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद ने राज्यपाल कोटे से अनवर अहमद को एमएलसी बनवाया था। यही अनवर अहमद उस अवामी कोआपरेटिव बैंक के चेयरमैन थे, जिसने नोटबंदी के समय बेनामी खातों के जरिये 100 से ज्यादा लोगों के कालेधन को सफेद किया। 

उन्होंने कहा कि जिस अनवर अहमद ने लालू प्रसाद की अवैध जमीन खरीद-बिक्री के लिए फंडिंग की, उस पर हाथ डालने की हिम्मत नीतीश कुमार नहीं कर सकते।मोदी ने कहा कि अनवर अहमद के आर्थिक अपराधों के चलते उनके परिसरों पर आयकर और सीबीआई के छापे पड़े। उनका एक बेटा जेल में है। उन्होंने कहा कि बिहार में अब जनता का नहीं, सत्तारूढ़ दल के बाहुबलियों का राज है। 

वहीँ अनवर अहमद मामले पर बीजेपी के बयान पर हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। पार्टी प्रवक्ता डॉ दानिश रिजवान ने कहा की राजद ने स्पष्ट कर दिया है कि अनवर अहमद एवं उनके बेटे से राजद का कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा की कल को संजय जयसवाल पुलिस के साथ कुछ करेंगें तो यह नहीं कहा जा सकता कि राजद के पूर्व नेता संजय जयसवाल ने पुलिस के साथ अभद्रता की। दानिश ने कहा की बिहार में सुशासन की सरकार है। हम किसी अपराधी को नहीं बख्शतें हैं।

 


Find Us on Facebook

Trending News