बिहार के मुख्यमंत्री को प्रशांत किशोर ने दिया खुला चैलेंज, कहा - अगर यह काम कर दिया तो छोड़ दूंगा राजनीति

बिहार के मुख्यमंत्री को प्रशांत किशोर ने दिया खुला चैलेंज, कहा - अगर यह काम कर दिया तो छोड़ दूंगा राजनीति

SAMASTIPUR : बिहार में जन सुराज अभियान चला रहे प्रशांत किशोर ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को खुला चैलेंज दिया है। उन्होंने कहा कि वह अपना अभियान वापस लेने को तैयार है, साथ ही राजनीति से भी दूर हो जाएंगे। लेकिन शर्त यह है कि बिहार सरकार 1-2 साल में अगर 5-10 लाख नौकरियां देने की अपनी घोषणा को पूरा करे। प्रशांत किशोर ने 20 लाख लोगों को नौकरी देने के मामले पर जोरदार निशाना साधते हुए कहा कि अगर नीतीश कुमार यह काम करने में कामयाब हो जाएंगे तो मैं उन्हें अपना नेता मान लूंगा। 

नियोजित शिक्षकों के लिए पैसे नहीं, नौकरी कहां से देंगे

अपने जन सुराज अभियान के तहत समस्तीपुर पहुंचे प्रशांत किशोर (Prashant Kishor In Samastipur) ने बुधवार को महागठबंधन सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जो नियोजित शिक्षक स्कूलों में पढ़ा रहे हैं, उन्हें तो समय पर सरकार वेतन दे नहीं पा रही और नई नौकरियां कहां से दे पाएगी। प्रशांत किशोर ने दावा करते हुए कहा कि आने वाले समय में राजनीतिक उठापटक अभी और होगी।


फेवीकोल हैं नीतीश कुमार

प्रशांत किशोर ने कहा, अभी हमको आए हुए 3 महीने ही हुए और बिहार की राजनीति 180 डिग्री घूम गई. अगला विधानसभा चुनाव आते-आते अभी कई बार बिहार की राजनीति घूमेगी. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि नीतीश कुमार 'फेवीकॉल' लगाकर अपनी कुर्सी पर बैठ गए हैं और बाकी की पार्टियां कभी इधर तो कभी उधर होती रहती हैं। 

एनडीए सरकार की तारीफ की

प्रशांत किशोर ने कहा कि जनता ने इस सरकार को वोट नहीं दिया था. ये सरकार जुगाड़ पर चल रही है, इसे जनता का विश्वास प्राप्त नहीं है. उन्होंने 2005 से 2010 के बीच एनडीए सरकार के काम की प्रशंसा भी की। उन्होंने कहा कि यह सबसे बेहतर कार्यकाल था।


Find Us on Facebook

Trending News