नवादा में पूर्व मुखिया और पंचायत सचिव पर प्राथमिकी दर्ज, जानिए क्या है मामला

नवादा में पूर्व मुखिया और पंचायत सचिव पर प्राथमिकी दर्ज, जानिए क्या है मामला

NAWADA : जिले के वारिसलीगंज  प्रखंड क्षेत्र के दोसूत पंचायत के पूर्व मुखिया गायत्री देवी और पंचायत सचिव भुनेश्वर प्रसाद के विरुद्ध प्रखंड विकास पदाधिकारी सत्यनारायण पंडित के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। मिली जानकारी के अनुसार शौचालय निर्माण में सरकारी राशि में लूट खसोट के आरोप में यह कार्रवाई की गई है।

बीडीओ द्वारा थाना को दिए गए आवेदन में कहा गया है कि पंचायत के बेलधा अनुसूचित टोला में 41 शौचालय का निर्माण पीएचईडी और मनरेगा के माध्यम से करवाया गया था। शौचालय निर्माण में घटिया सामग्री के साथ ही निर्माण आधा अधूरा छोड़ दिया गया है। निर्माण कराए गए अधिकांश शौचालय अपूर्ण है । किसी में छत नहीं तो किसी में दरवाजा नहीं. जबकि कई शौचालयों का दीवार आधा अधूरा निर्माण कर ही छोड़ दिया गया है। शौचालय निर्माण को लेकर देय राशि 4 हजार 6 सौ रुपये प्रति शौचालय के तहत कुल 1 लाख 88 हजार 600 सौ का भुगतान सरकार से चेक के माध्यम से ले लिया गया था. 

गौरतलब है कि पंचायत में बने शौचालय में घटिया निर्माण का आरोप लगाते हुए दोसुत ग्रामीण जनार्दन सिंह के द्वारा पंचायत के बेलधा गांव में बने शौचालय में घटिया निर्माण की शिकायत लोकायुक्त पटना से किया गया था। शिकायत बाद जिलाधिकारी के आदेश पर अगस्त 2017 में उप विकास आयुक्त के नेतृत्व में तीन सदस्यीय अधिकारियों की टीम निर्माण कार्य की जांच स्थल पर जाकर किया गया था। जिसमें घटिया निर्माण के साथ - साथ आधे अधूरे शौचालय निर्माण होने की बात सामने आई थी। जिलाधिकारी और जिला पंचायती राज पदाधिकारी से आदेश मिलने के उपरांत को दोसुत ग्रामीण अर्जुन रजक की पत्नी सह दोसुत पंचायत की तत्कालीन मुखिया गायत्री देवी तथा पंचायत सचिव भुनेश्वर प्रसाद के विरुद्ध कार्य में भारी अनियमितता बरतने का आरोप लगाते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी सत्यनारायण पंडित के द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। गड़बड़ी का यह मामला साल 2006 से 11 के बीच का बताया जा रहा है।

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News