रामायण सर्किट से जुड़ेगा मोतिहारी का वाल्मीकि आश्रम, डीएम ने पर्यटन विभाग के सचिव को लिखा पत्र

रामायण सर्किट से जुड़ेगा मोतिहारी का वाल्मीकि आश्रम, डीएम ने पर्यटन विभाग के सचिव को लिखा पत्र

MOTIHARI : पूर्वी चंपारण जिला के अरेराज प्रखंड स्थित ऐतिहासिक वाल्मीकि आश्रम अब रामायण सर्किट व पर्यटन स्थल से जुटेगा. मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने पर्यटन विभाग के सचिव को पत्र भेजकर वाल्मीकि आश्रम की ऐतिहासिकता व ग्रन्थ चर्चा को लेकर रामायण सर्किट से जोड़ते हुए पर्यटन स्थल के मानचित्र पर लाने के लिए पत्र भेजा गया है. रामायण सर्किट से जुड़ने व पर्यटन स्थल से जुड़ने की खबर पर आसपास के क्षेत्र में खुशी की लहर है. उक्त स्थल जिला के अरेराज प्रखंड के गोबिंदगंज थाना से सटे मुड़ा पंचायत में स्थित है. 

बताते चलें की इन दिनों मनरेगा योजना से लगभग साढ़े छह लाख से वाल्मीकि आश्रम के पास बना मनरेगा पार्क आकर्षक का केंद्र बना हुआ है. बीते दिनों उक्त स्थल पर प्रशासन द्वारा विकास शिविर लगाया गया था. विकास शिविर में सभी विभागों का स्टॉल लगा हुआ था. विकास शिविर के निरीक्षण के दौरान वाल्मीकि आश्रम के बारे में जनकारी ली गई. गांव के बुजुर्गों द्वारा वाल्मीकि आश्रम मान्यतानुसार लव कुश की जन्म स्थली होने की बात बतायी गई. वही माता जानकी के इसी स्थल पर भूलिन होने की चर्चा धार्मिक ग्रन्थ रामायण में वर्णित  है. इसको लेकर उक्त स्थल को रामायण सर्किट से जोड़ते हुए पर्यटन के मानचित्र पर लाने की आश्यकता है. 

बताते चलें की वाल्मीकि आश्रम के पास पूर्व से कीमती अष्टधातु की ब्रम्हा जी की मूर्ति थी. जिसे चोरों द्वारा वर्षो पूर्व चोरी कर लिया गया. उक्त स्थल पर रामनवमी के अवसर पर भारी मेला का आयोजन किया जाता है. वही उक्त स्थल पर लवकुश के भी कई चिन्ह स्थापित है. 

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News