केंद्रीय मंत्री रविशंकर की चेतावनी: जजों के खिलाफ एजेण्डा सेट कर ट्रोल करने वालों को अब बर्दाश्त नहीं किया जायेगा

केंद्रीय मंत्री रविशंकर की चेतावनी: जजों के खिलाफ एजेण्डा सेट कर ट्रोल करने वालों को अब बर्दाश्त नहीं किया जायेगा

PATNA: पटना हाईकोर्ट के शताब्दी भवन के उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने न्यायाधीशों के लिए बड़ी बात कही है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि न्यायाधीशों को लेकर मीडिया में ट्रोलिंग अब बर्दाश्त नहीं की जाएगी. किसी भी मामले पर मन मुताबिक फैसला नहीं देने पर जजों के खिलाफ खासकर सोशल मीडिया पर काफी ट्रोलिंग होती है, जिसमें कई बार उन्हें अपमानजनक शब्द कहे जाते हैं. ट्विटर पर भी हैशटेग चलाकर जजों की अवमानना की जाती है. इसे अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. 

रविशंकर प्रसाद ने पटना हाईकोर्ट के मंच पर सार्वजनिक तौर पर कहा कि ‘हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के जज अपने हिसाब से कानून के आधार पर फैसला देते हैं. लोगों को अधिकार है कि वो उनके फैसले की आलोचना करे, मगर किसी भी तरह की ट्रोलिंग बर्दाशत नहीं की जाएगी. पटना से ये बात मैं पूरे देश के लोगों को साफ कर देना चाहता हूं’. भारत में लगभग सभी लोग सोशल मीडिया पर एक्टिव हैं और खुलकर अपने विचार साझा करते हैं. ज्यादातर लोग सोशल मीडिया का सही उपयोग करते हैं, उसे विचारों के माध्यम के तौर पर इस्तेमाल करते हैं. लेकिन कुछ लोग इसका गलत उपयोग करना शुरू कर देते हैं. जिसका खामियाजा सबको भुगतना पड़ता है. हम बोलने की आजादी का समर्थन करते हैं. लेकिन गणमान्य लोगों की अवमानना और अपमानजनक बातों को बर्दाश्त नहीं करेंगे. 

बता दें कि पटना हाईकोर्ट के शताब्दी भवन का उद्घाटन सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति एसए बोबडे ने किया. कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के अलावा कई गणमान्य लोग मौजूद रहे. समारोह में पटना हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजय करोल और हाईकोर्ट के सभी जज मुख्य रूप से मौजूद थे. केंद्रीय मंत्री ने पहले भी पटना हाईकोर्ट के साथ अपनी पुरानी यादों का जिक्र किया है.अपने जीवनकाल में वे पटना हाईकोर्ट में बिताए हुए यादों की हमेशा चर्चा करते रहते हैं.

Find Us on Facebook

Trending News