आरसीपी को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने पर जेडीयू में खुशी, झाझा विधायक ने कहा - अरुणाचल का असर बिहार में नहीं

आरसीपी को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने पर जेडीयू में खुशी, झाझा विधायक ने कहा - अरुणाचल का असर बिहार में नहीं

जमुई। बिहार विधानसभा चुनाव में आशा के अनुरूप सफलता न मिलने पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हार की जिम्मेवारी लेते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा देते हुए जेडीयू के संगठन प्रभारी आरसीपी सिंह को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाये जाने पर जमुई जिला जेडीयू कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर दौड़ गयी और उन्हें बधाई देने वालों का तांता लग गया।

जमुई जिला जेडीयू के जिलाध्यक्ष, पूर्व मंत्री व झाझा के विधायक दामोदर रावत, जेडीयू के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष पंकज कुमार सिंह, जेडीयू तकनीकि सेल के प्रदेश महासचिव शैलेन्द्र कुमार, जेडीयू महादलित प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष अरुण भारती, जेडीयू नेता प्रो. प्रदीप कुमार सिंह, बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष संजीव कुमार साव, जिला उपाध्यक्ष श्याम सुंदर दास, पूर्व प्रखंड अध्यक्ष पवन कुमार रंजन ने आरसीपी सिंह के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाये जाने पर उन्हें न केवल बधाई दी बल्कि कहा कि पार्टी का देश के अन्य राज्यों में विस्तार होगा।

झाझा से जेडीयू विधायक दामोदर रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी संभालने के कारण पार्टी को पूरा समय नहीं दे पा रहे थे, यही कारण है कि उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया और संगठन प्रभारी आरसीपी सिंह को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव राज्य कार्यकारिणी  की बैठक में रखा जिसे सर्वसम्मति से पास कर दिया गया।


दूसरे राज्यों में पार्टी का होगा विस्तार

उन्होंने कहा कि आरसीपी सिंह के नेतृत्व में जेडीयू अब बिहार के अलावा अन्य राज्यों में भी अपने संगठन का विस्तार करेगी।झाझा विधायक ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश में जेडीयू के विधायकों का भाजपा में शामिल किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन इस घटना का बिहार में चल रही एनडीए सरकार पर बिहार में कोई असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि राजनीति में कुछ भी संभव है लेकिन बीजेपी को गठबंधन धर्म का पालन करना चाहिए।

Find Us on Facebook

Trending News