बिहार में पकड़ूवा विवाह की वापसी : छठ पूजा में घर आए युवक का अपहरण कर जबरन कराई शादी, एक सप्ताह तक बनाया बंधक

बिहार में पकड़ूवा विवाह की वापसी : छठ पूजा में घर आए युवक का अपहरण कर जबरन कराई शादी, एक सप्ताह तक बनाया बंधक

GAYA/NAWADA : बिहार में लगभग दो दशक पहले पकड़ूवा विवाह का प्रचलन आम था, जब बंदूक की नोंक पर किसी युवक का अपहरण कर जबरन उसकी शादी करवा दी जाती थी। लेकिन बीते कुछ साल में यह प्रचलन लगभग समाप्त हो गया था। लेकिन एक बार फिर से गया जिले में ऐसा ही एक मामला सामने आया है। यहां छठ पूजा में अपने घर आए युवक का पहले अपहरण किया गया और फिर जबरन उसकी शादी करा दी गई। इस दौरान लगभग एक सप्ताह तक युवक को बंधक बनाए रखा गया। बाद में युवक किसी तरह झूठ बोलकर वहां से निकलने में कामयाब हुआ और थाने में घटना की पूरी जानकारी दी।

पीड़ित ने मंगलवार को नवादा नगर थाना पहुंचकर आपबीती सुनाई और लिखित शिकायत दर्ज कराई। पीड़ित युवक गुड्डू कुमार है। वह नगर थाना क्षेत्र के मोहिउद्दीनपुर गांव निवासी उमाकांत प्रसाद का पुत्र है। शादी गया के वजीरगंज थाना क्षेत्र के सरबहना गांव में शंभु प्रसाद की बेटी रानी कुमारी के साथ कराई गई है। 


गुजरात के प्राइवेट कंपनी में करता है काम

गुड्डू ने बताया कि वह गुजरात के वापी में एक प्राइवेट कंपनी में काम करता है। दिवाली में दिल्ली अपने मौसा के पास गया था। दिल्ली में मौसा फल बेचने का काम करते हैं। पास में ही लड़की का बहनोई भी फल बेचता है। यहां उससे भी परिचय हो गया। नवादा आने के क्रम में लड़की के बहनोई ने छठ पूजा के लिए सरबहना में फल पहुंचाने का अनुरोध किया। जिस पर वह दिल्ली से फल लेकर नवादा आया। छठ पूजा की वजह से वह वहीं ठहर गया।

आधी रात को उठाया और फिर करवा दी शादी

युवक ने बताया कि 10 नवंबर को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्यदान के बाद रात में लड़की के भाई के साथ कमरे में सोया था। देर रात तकरीबन दो बजे गमछों से चेहरा ढंके 10 लोग पहुंचे और उसे उठाया। फिर दूसरे कमरे में ले जाकर लड़की की मांग में जबरन सिंदूर डलवा दिया। गुड्‌डू ने काफी विरोध किया, जिस पर उसके साथ मारपीट की गई। सिंदूर डलवाने के दौरान उन लोगों ने वीडियो भी बनाया और लड़की के साथ रहने का दबाव बनाया।

युवती भी नहीं थी तैयार

युवक ने बताया कि लड़की को भी उसके घर वालों ने खूब धमकाया। बातचीत करने पर लड़की ने उसे बताया कि परिवार वाले के दबाव पर शादी की है। लड़कों को उसके मां-पिता, मामा समेत अन्य रिश्तेदार शादी का दबाव बना रहे थे। परिवारवालों की जिद के आगे झुककर लड़की शादी को तैयार हुई।

Find Us on Facebook

Trending News