MOTIHARI NEWS : आरटीआई कार्यकर्त्ता की हत्या के बाद परिजनों से मिली रितु जायसवाल, कहा पीड़ित परिवार को न्याय दिलाएंगे

MOTIHARI NEWS : आरटीआई कार्यकर्त्ता की हत्या के बाद परिजनों से मिली रितु जायसवाल, कहा पीड़ित परिवार को न्याय दिलाएंगे

MOTIHARI : शुक्रवार को दिनदहाड़े प्रखण्ड कार्यलय गेट पर गोलियों से छलनी किए गए RTI कार्यकर्ता के परिजनों से शनिवार को राजद नेत्री सह प्रदेश प्रवक्ता रितु जयसवाल मिलकर घटना की जनकारी ली। वही पीड़ित परिवार को दुख की घड़ी में उन्होंने सान्त्वना दिया। मृतक RTI कार्यकर्ता विपिनअग्रवाल के पिता व पत्नी से घटना की पूरी जनकारी लेने के मीडिया से बात करते हुए रितु जयसवाल ने बिना नाम लिए सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि गांधी की धरती पर गांधी की आवाज उठाने वाले हत्या करने वाले गोडसे है। इस तथाकथित सुशासन की सरकार में हर भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाने वाले की पत्नी को विधवा बनाया जा रहा है। सुशासन की पुलिस हत्या की कैलेंडर छपवाने में जुटी है। पांच महीना में पांच पांच हत्या होती है। उसके बाद भी धमकी मिलने पर सुरक्षा मांगने पर पुलिस सुरक्षा देने के बदले बेइज्जत करती है। रितु जयसवाल ने कहा कि मृतक RTI कार्यकर्ता का परिवार धमकी से इतना डरा हुआ है कि नामजद अभ्युक्त नही बनाते हुए अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज कराया है। उसके बाद भी उसके घर पर कोई सुरक्षा व्यवस्था नही दिया गया है। इस मुद्दा को राजद गंभीरता से उठाएगी। आवाज उठाने का परिणाम जो भी हो, लेकिन राजद पीछे हटने वाली नही है।

वहीँ रितु जयसवाल को मृतक विपिन अग्रवाल के पिता विजय अग्रवाल अपनी पूरी व्यथा सुनाई। उन्होंने बताया कि उनका पुत्र आरटीआई कार्यकर्ता था और अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध  हाई कोर्ट में मुकदमा करके सरकार की मदद कर रहा था। जिस कारण यह कार्य बहुत लोगो को नागवार लग रहा था । 16 फरवरी 2021में भी उसके परिवार पर हमला किया गया था। उसकी पत्नी मोनिका को घसीट कर प्रखंड मुख्यालय के गेट तक ले गया था। उसके बाद थाना में शिकायत के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं किया। उन्होंने बताया कि धनखरैया में जब हाई कोर्ट के निर्देश पर मकान तोड़े जा रहे थे, उस समय भी सब लोगों ने विपिन को ही टारगेट किया और हमला किया। उन्होंने बताया कि उसमें सीओ और पुलिस प्रशासन की भी मिलीभगत थी। 

उन्होंने बताया कि पुलिस प्रशासन से सुरक्षा की मांग की गई थी, लेकिन प्रशासन द्वारा  कार्यवाही नही किया गया। विपिन की पत्नी मोनिका ने भी बताया कि बहुत लोगों की धमकी मिलने और भय के कारण प्राथमिकी में अज्ञात के विरुद्ध  मामला दर्ज किया गया है। वहीं रितु जायसवाल ने कहा कि हरसिद्धि में पुलिस प्रशासन निकम्मा हो गया है। 16 मार्च 2021 को मटियरिया में पवन गुप्ता की हत्या कर दी गई, थी। उसके बाद से लगातार कई हत्याएं हुई। जिसमें पत्रकार मनीष कुमार सिंह की हत्या, आलोक यादव की हत्या, रुपेश तिवारी की हत्या तथा इधर विपिन अग्रवाल की हत्या कर दी गई। लेकिन पुलिस प्रशासन इस पर कोई कार्रवाई अभी तक नहीं की। उन्होंने बताया कि इस की लड़ाई हम लोग लड़ेंगे और पीड़ितों को न्याय दिलाएंगे। राजद विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी नागेंद्र राम, सुरेंद्र यादव, अरुण सिंह, सहित कई नेता गण भी आकर पीड़ित परिवार को सांत्वना दिए और न्याय के लिए प्रशासन से मांग किए हैं।

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News