नियोजित शिक्षकों के फैसले पर RLSP की सीएम नीतीश पर अटैक, कहा- चुनावी लाभ के लिए लिया गया फैसला

नियोजित शिक्षकों के फैसले पर RLSP की सीएम नीतीश पर अटैक, कहा- चुनावी लाभ के लिए लिया गया फैसला

 PATNA : नीतीश सरकार द्वारा नियोजित शिक्षकों को लेकर  बड़े फैसले के बाद अब विपक्ष सवाल खड़े कर रहा है .आरजेडी के बाद अब रालोपा के मुख्य प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा है कि नियोजित शिक्षक कई सालों से अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे थे लेकिन नीतीश सरकार ने उनकी कभी नहीं सुनी .

जब जब नियोजित शिक्षकों ने आवाज उठाई तब तक नीतीश सरकार ने उनके ऊपर लाठीचार्ज करवाया गया.  ऐसे में चुनाव से पहले नीतीश सरकार ने उन्हें सिर्फ एक लॉलीपॉप दिया. अभिषेक झा ने आगे कहा कि नीतीश सरकार की मंशा इस से साफ जाहिर होती है नियोजित शिक्षकों को तो कुछ अधिकार मिलेंगे जरूर, लेकिन वह अधिकार साल 2021 से प्रभावी होंगे .सरकार इसके पहले जब भी कोई निर्णय लेती है तो निर्णय लेने से उसके प्रभावी होने के बीच की अवधि तक में जो भी एरियल बनता है उसे जोड़ कर दिया जाता है लेकिन सरकार ने इस मामले में ऐसा कुछ भी नहीं किया है . ऐसे में साफ हो जाता है कि नीतीश सरकार का यह फैसला चुनाव में लाभ लेने के लिए लिया गया फैसला है .जिससे नियोजित शिक्षकों को कोई बड़ी राहत नहीं मिलने वाली है.

गौरतलब है कि इसके पहले आरजेडी की तरफ से भी नियोजित शिक्षकों के मामले पर नीतीश कैबिनेट के फैसले पर सवाल खड़े किए गए थे और कहा गया था कि चुनाव से पहले वोट बैंक के लिए नीतीश सरकार ने यह चुनावी फैसला लिया है.

Find Us on Facebook

Trending News