रूपेश हत्याकांड: पुलिसिया जांच टांय-टांय फिस्स,200 लोगों से पूछताछ के बाद भी नतीजा ढाक के तीन पात

रूपेश हत्याकांड: पुलिसिया जांच टांय-टांय फिस्स,200 लोगों से पूछताछ के बाद भी नतीजा ढाक के तीन पात

पटना... राजधानी पटना के वीवीआईपी इलाके में सरेशाम हुए  हाई प्रोफाइल मर्डर के केस की गुत्थी अब तक नहीं सुलझ पाई है। पुलिसिया जांच अब तक टांय टांय फिस्स साबित हुआ है। ताबड़तोड़ छापेमारी व ताबड़तोड़ पूछताछ के बाद नतीजा अभी तक ढाक के तीन पात ही साबित हुआ है। इंडिगो के स्टेशन मैनेजर की हत्या मामले में 200 लोगों से पूछताछ पुलिसिया सूत्रों की माने तो इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड को लेकर बिहार पुलिस अब तक तकरीबन 200 लोगों से पूछताछ कर चुकी है। घटना स्थल के जद में आने वाले तमाम तरह के कॉल डिटेल्स खंगाले जा चुके हैं ।संदिग्ध नंबरों की जांच पर जांच की जा रही है। शक के आधार पर लोगों से पूछताछ की जा रही है। सूत्रों की माने तो अभी तक नतीजा सिफर साबित हुआ है ।फिलहाल पुलिस के हाथ पूरी तरह खाली हैं ।गौरतलब है कि इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह को सीएम आवास से कुछ ही दूरी पर शाम 7:05 पर अपराधियों ने ताबड़तोड़ 10 गोली मारकर मौत की नींद सुला दिया था। इस हाईप्रोफाइल मर्डर ने पूरे प्रदेश में हड़कंप मचा दिया था ।लेकिन नतीजा अन्य हाई प्रोफाइल हत्याकांड से कुछ अलग नहीं हुआ। आज इतने दिन होने के बाद भी पुलिस के हाथ पूरी तरह खाली हैं।

सीएम खुद कर रहे थे निगरानीइस हाई प्रोफाइल हत्याकांड के बाद बिहार की सियासत भी काफी गर्म हो गई थी। रुपेश के घर पर नेताओं का जमावड़ा लगने लगा। तमाम नेता वहां मातमपुर्सी के लिए पहुंचे ।हद तो तब हो गई जब इस हत्याकांड में स्वयं मुख्यमंत्री ने रुचि लेकर डीजीपी को बुलाया और निर्देश दिया। लेकिन अभी तक यह हत्याकांड पुलिस के लिए सर दर्द ही साबित हो रहा है। तमाम जांच के बावजूद पुलिस किसी नतीजे पर पहुंचने में सफल नहीं हो पा रही है। बताया जा रहा है कि एसआईटी द्वारा प्रतिदिन करीब आधा दर्जन लोगों से पूछताछ की जा रही है ।फरार अपराधियों  व लाइनर की तलाश में एसआईटी पटना ,जहानाबाद, वैशाली, छपरा ,गोपालगंज सहित कई जगहों पर छापेमारी कर बैरंग वापस हो चुकी है। अब तक तकरीबन 200 से अधिक लोगों से शक के आधार पर पूछताछ भी की जा चुकी है ।लेकिन नतीजा के नाम पर पुलिस के हाथ पूरी तरह खाली है। अब बड़ा सवाल उठता है कि क्या सीएम के निगरानी के बावजूद इस हत्याकांड का खुलासा नहीं होगा ?हत्यारे कब तक पकड़े जाएंगे?

पुलिस कुछ भी बता पाने की स्थिति में नहीं है इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रूपेश सी हत्याकांड को लेकर बिहार पुलिस जांच की बात कह कर लगातार पल्ला झाड़ने में लगी है। इस हत्याकांड को लेकर प्रत्येक पहलुओं पर पुलिस लगातार जांच करने में जुटी है। सूत्रों की माने तो एक बार फिर से एसआईटी रूपेश सिंह के मोबाइल फोन का कॉल डिटेल्स खंगालने में लगी है ।उसी के आधार पर संदिग्धों की पहचान कर उनसे लगातार पूछताछ कर रही है ।अभी तक कोई ठोस सुराग हाथ नहीं लगने की वजह से कोई पुलिस अधिकारी इस पर कुछ बोलने बोलना नहीं चाहता। बड़ी बात यह है कि इस हत्याकांड में रुपेश के परिवार वाले भी कुछ जानकारी नहीं दे पा रहे हैं। पार्किंग विवाद टेंडर वगैरह सारे मामलों को एसआईटी पूरी तरह देख चुकी है लेकिन हत्यारे अब भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं।

Find Us on Facebook

Trending News