बिहार विधान परिषद चुनाव में नॉर्थ बिहार के किंगपिन कहे जाने वाले जदयू के दिनेश सिंह को चुनौती देंगे शंभू सिंह

बिहार विधान परिषद चुनाव में नॉर्थ बिहार के किंगपिन कहे जाने वाले जदयू के दिनेश सिंह को चुनौती देंगे शंभू सिंह

मुजफ्फरपुर. बिहार में 24 सीटों पर विधान परिषद का चुनाव होने वाला है. इसको लेकर नेताओं ने तैयारियां शुरू कर दी है. नॉर्थ बिहार बाहुबली नेताओं में शुमार जदयू के विधान पार्षद दिनेश सिंह के विरुद्ध शंभू सिंह ने गोपनीय तौर पर मोर्चा खोल दिया है। चुकी दशकों से दिनेश सिंह और उसके परिवार का नॉर्थ बिहार की राजनीति में काफी दबदबा रहा है और इसी दबदबे और तिलिस्म को तोड़ने के लिए राजद ने शंभू सिंह के नाम का नया ट्रंप कार्ड खेला है। शंभू सिंह बिहार के बहुत बड़े माफिया डॉन भी रहे हैं और सीपीडब्ल्यूडी के ठेकों पर उनका वर्चस्व रहा है।

अक्सर शंभू मंटू गिरोह के मुखिया के तौर पर इनका नाम चर्चा में आते रहता है। इस ट्रंप कार्ड का इस्तेमाल कर राजद के द्वारा नॉर्थ बिहार में भूमिहार वोटरों को साधने का प्रयास कर रही है। हालांकि राजद के इस तिलिस्म को तोड़ने में जदयू भी कहीं कमी नहीं दिखा रही है। दबे जुबान अक्सर यह बात चर्चा में आ जाती है कि पप्पू देव की प्रशासनिक हत्या भी इसी कड़ी का एक हिस्सा है।

एक तरफ जहां राजद भूमिहार वोटरों को रिझाने और नए समीकरण तैयार करने के प्रयास में एमएलसी व अन्य उत्तरदायित्व देने के लिए तैयार है, वहीं जदयू के द्वारा एक खास वर्ग के लोगों को टार्गेट कर रास्ते से हटाया जा रहा है। पूर्वांचल के पप्पू देव भी राजद के एमएलसी उम्मीदवार माने जा रहे थे। हालांकि नॉर्थ बिहार में सियासी करवट लेने की सुगबुगाहट शुरू हो चुकी है। शंभू सिंह का लालू यादव और तेजस्वी से मुलाकात बड़े राजनीतिक बदलाव की ओर इशारा कर रही है। शंभू सिंह के समर्थकों के द्वारा विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर तरह-तरह की पोस्ट, बड़े सियासी बदलाव के सामाजिक स्वीकृति  प्राप्त होने की पुष्टि करता है।

Find Us on Facebook

Trending News