बिहार में शराबबंदी कानून को "पियक्कड़" कॉलेजकर्मी ने दिखाया ठेंगा, नशे में धूत घंटों सड़क पर किया हंगामा

बिहार में शराबबंदी कानून को "पियक्कड़" कॉलेजकर्मी ने दिखाया ठेंगा, नशे में धूत घंटों सड़क पर किया हंगामा

SHEKHPURA : बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है. इसके बावजूद शेखपुरा जिले में शराबबंदी का खुलेआम मख़ौल बनाया जा रहा है. यहाँ एक कॉलेज कर्मी शराबबंदी कानून को ठेंगा दिखाते हुए सड़क पर घंटो पड़ा रहा. जिसके बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दिया. मामला जिले के बरबीघा थाना क्षेत्र के श्रीकृष्ण सिंह मोड़ के पास की है. जहाँ एसकेआर कॉलेज काआदेशपाल शराब बंदी कानून को ताक पर रख सड़क पर टल्ली पड़ा रहा. बीच सड़क पर शराब के नशे में धुत व्यकि की सूचना स्थानीय लोगों ने पुलिस को दिया. जिसके बाद स्थानीय बरबीघा थानां की पुलिस एंबुलेंस के सहारे शराबी को अस्पताल ले गयी. शराबी की पहचान एसकेआर कॉलेज के आदेशपाल भगीरथ मांझी के रूप में की गई है. 

वही इस सम्बंध मे कॉलेज के प्राचार्य नवल प्रसाद ने बताया कि आदेशपाल को एसकेआर कॉलेज बरबीघा मे अनुकंपा के आधार पर नौकरी मिली. प्राचार्य नवल प्रसाद ने बताया कि यह कॉलेज का आदेशपाल है. यह आये दिन शराब पीकर बराबर इसी तरह का बदमाशी करता है. कई बार पुलिस को भी लिखा गया हैं. लेकिन पुलिस भी इस पर संज्ञान नहीं ले पाती है. 

उन्होंने कहा की एक बार कालेज की एक छात्रा का मूल सीएलसी भी इसने शराब के नशे में फाड़ दिया. जिसको लेकर हमें दोबारा उसका सीएलसी बना कर देना पड़ा. कालेज में भी हमेशा शिक्षक से भी दुर्व्यवहार शराब के नशे में करता है. प्राचार्य ने कहा कि यह सुल्तानगंज कॉलेज का आदेशपाल था. वहां कॉलेज के प्राचार्य से बदसलूकी किया. जिसको लेकर वहां से इसको सस्पेंड किया गया और उसका ट्रांसफर एसकेआर कॉलेज बरबीघा में किया गया. सरकारी कर्मी रहते हुए भी शराब पीकर हल्ला हंगामा करना यह इसका बराबर का दिनचर्या है. जिससे कालेज के सभी लोग के परेशान होने की बात कही है. 

शेखपुरा से दीपक की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News