शेल्टर होम कांड को लेकर तेजस्वी ने नीतीश से पूछा, हमारी बहन-बेटी होती तब भी चुप रहते?

PATNA : नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर एक बार फिर से निशाना साधा है। तेजस्वी ने मोकामा के नाजरथ शेल्टर होम से लड़कियों के भाग जाने की घटना को बड़ी साजिश बताते हुए सीधा आरोप लगाया है कि नीतीश सरकार मुजफ्फरपुर कांड में शामिल सफेदपोशो को बचाने के लिए साजिश रच रही है। तेजस्वी ने सोशल मीडिया पर ट्वीट के जरिए नीतीश कुमार से कई सवाल भी किए हैं।

तेजस्वी ने अपने पहले ट्वीट में आरोप लगाया है कि मुज़फ़्फ़रपुर बलात्कार कांड की पीड़ित और गवाह लड़कियाँ भागी नहीं थी जैसा मैंने कहा था उन्हें एक साज़िश के तहत भगाने की पटकथा लिखी गयी है ताकि सत्ता शीर्ष पर बैठे सफ़ेदपोशों को बचाया जा सके। कौन है वो बड़ा नेता और अधिकारी जो लड़कियों के साथ शोषण करता था?

तेजस्वी का आरोप है कि बच्चियों के साथ सत्ता संरक्षित जनबलात्कार जैसा घृणित महापाप होने पर भी CM समेत बिहार सरकार इस मामले पर पूर्णत चुप है। माननीय हाईकोर्ट, सुप्रीम कोर्ट, राष्ट्रीय महिला आयोग, मानवाधिकार आयोग ने इस मामले को लेकर नीतीश सरकार को क्या-क्या नहीं कहा लेकिन इनपर कोई असर नहीं हो रहा है? मुज़फ़्फ़रपुर जनबलात्कार कांड में ऐसा कौन शख़्स संलिप्त है जिसे बचाने को लेकर बिहार सरकार सब संस्थाओं की लताड़ बेशर्मी से चुपचाप सुन रही है। CBI अधिकारियों का तबादला करवा रही है?

इन आरोपों के बाद तेजस्वी ने नीतीश कुमार से सवाल किया है कि अगर 34 अनाथ बच्चियों की जगह हमारी अपनी बहन-बेटी होती तो हम सभी ऐसे ही चुप रहते?

Find Us on Facebook

Trending News