अप्रशिक्षित नियोजित शिक्षकों को हटाने का आदेश, शिक्षक संघ ने आदेश पर उठाए सवाल

अप्रशिक्षित नियोजित शिक्षकों को हटाने का आदेश, शिक्षक संघ ने आदेश पर उठाए सवाल

PATNA: बिहार के अप्रशिक्षित नियोजित शिक्षकों के हटाने के पत्र के बाद विवाद शुरू हो गया है. भोजपुर डीईओ के एक पत्र के बाद विवाद बढ़ गया है. भोजपुर डीईओ ने मंगलवार को शिक्षा विभाग के 2017 के पत्र का हवाला देते हुए अपने जिले में अप्रशिक्षित नियोजित शिक्षकों को हटाने को लेकर पत्र जारी किया है. डीईओ ने सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को वैसे अप्रशिक्षित शिक्षकों की सूची 5 अप्रैल तक भेजने का निर्देश दिया है. ताकि उन्हें सेवा से हटाया जा सके.

अधिकारी के इस पत्र के बाद विवाद शुरू हो गया है. शिक्षक संघों ने डीईओ के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और कहा है कि डीईओ की मंशा साफ नहीं है. वे इस तरह का आदेश निकाल कर शिक्षकों से वसूली करना चाहते हैं. शिक्षक संघों ने कहा कि मार्च 2019 तक अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षण प्राप्त कर लेना था. लेकिन अगर वे इसमे कामयाब नहीं हो पाए तो आगे क्या करना है इस पर सरकार निर्णय लेगी. भोजपुर डीईओ को इस पर निर्णय लेने का अधिकार नहीं है. डीईओ भोजपुर ने जिस पत्र का हवाला देकर पत्र जारी किया है वह 2017 का है. उसके बाद से शिक्षा विभाग ने कई आदेश निकाले हैं. मार्च 2019 तक प्रशिक्षण पूरा नहीं करने वाले  प्रशिक्षित शिक्षकों को हटाने का आदेश भी होगा तो यह डीईओ नहीं बल्कि शिक्षा विभाग जारी करेगी. नियोजित और माध्यमिक शिक्षक संघ ने कहा है कि भोजपुर डीईओ यह आदेश वापस लें वरना संघ चुप नहीं बैठेगा. 

Find Us on Facebook

Trending News