फर्जीवाड़े में घिरी स्मृति ईरानी, फर्जी और झूठे दस्तावेजों के जरिए शराब बेचने का लाइसेंस लेने का आरोप, कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा

फर्जीवाड़े में घिरी स्मृति ईरानी, फर्जी और झूठे दस्तावेजों के जरिए शराब बेचने का लाइसेंस लेने का आरोप, कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा

DESK. भ्रष्टाचार के मुद्दे पर अक्सर कांग्रेस को घेरने और आरोप लगाने वाली केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी खुद ही अब एक फर्जीवाड़े में घिरती नजर आ रही है. स्मृति की बेटी का गोवा स्थित रेस्त्रां अब विवादों में फंस गया है. रिपोर्टों के मुताबिक रेस्त्रां पर एक मृत व्यक्ति के नाम पर शराब का लाइसेंस लेने का आरोप है. 

गोवा के एक्साइज कमिश्नर ने एक वकील द्वारा फर्जी और झूठे दस्तावेजों के जरिए लाइसेंस लेने की शिकायत पर रेस्त्रां को नोटिस जारी किया है. मामले में अब 29 जुलाई को सुनवाई होनी है. स्मृति ईरानी की बेटी जोइश ईरानी गोवा के अस्सागाव में एक "सिली सोल्स कैफे एंड बार" नाम से एक पॉश रेस्त्रां चलाती हैं.

यह रेस्त्रां तब विवादों में घिर गया जब पता चला कि इसके मालिकों ने शराब के लाइसेंस को रिन्यू करवाने के लिए एक मृत व्यक्ति के नाम का सहारा लिया है. इस संबंध में वकील एरेज रोड्रिग्ज ने शिकायत की थी. उन्होंने दावा किया कि "फर्जी और गढ़े गए दस्तावेजों के जरिए यह लाइसेंस हासिल किया गया है."

इसे लेकर कांग्रेस भी स्मृति पर हमलावर हो गई है. कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि स्मृति ईरानी ने अपनी बेटी को फर्जी तरीके से लाइसेंस दिलाने में मदद दिलाई. कांग्रेस ने इस मामले में स्मृति और उनके परिजनों पर कई आरोप लगाए हैं. साथ ही इन मामलों में स्मृति पर कार्रवाई की मांग की. साथ ही कांग्रेस ने पीएम मोदी से अपील करते हुए स्मृति ईरानी से इस्तीफा मांगा है. 

कांग्रेस प्रवक्ता अलका लांबा ने अपनी सोशल मीडिया हैंडल से एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी को लेकर ‘कई अखबारों में खबर छपी हुई है। उन्होंने आगे कहा, ‘स्मृति ईरानी इस बात की जानकारी दें कि उनकी बेटी को कमिश्नर द्वारा नोटिस दी गई है। खुलासा हुआ है कि आपकी बेटी जो गोवा में एक रेस्टोरेंट चलाती हैं, वहां पर शराब परोसने के लिए जो लाइसेंस बनवाया गया था, वह फर्जी तरीके से बनाया गया है?’


Find Us on Facebook

Trending News