तो 2025 में सिर्फ महागठबंधन का नेतृत्व करेंगे तेजस्वी, मुख्यमंत्री की कुर्सी देने पर ललन सिंह ने दिया ऐसा जवाब, राजद को गुजरेगा नागवार

तो 2025 में सिर्फ महागठबंधन का नेतृत्व करेंगे तेजस्वी, मुख्यमंत्री की कुर्सी देने पर ललन सिंह ने दिया ऐसा जवाब, राजद को गुजरेगा नागवार

PATNA : JDU से उपेंद्र कुशवाहा के जाने के बाद अब बहस इस बात को लेकर शुरू हो गई है कि 2025 में महागठबंधन का नेतृत्व कौन करेगा। अब तक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यह कहते रहे हैं कि तेजस्वी ही महागठबंधन को लीड करेंगे। एक तरह से कहा जाए तो तेजस्वी को उन्होंने 2025 का मुख्यमंत्री घोषित कर दिया है। अब नीतीश कुमार के इस बयान को जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने दूसरा एंगल दिया है। जो राजद के लोगों को नागवार गुजर सकता है।

एक दिन पहले ललन सिंह ने कहा था कि 2025 में तेजस्वी नेतृत्व करेंगे या नहीं, इस पर फैसला नहीं हुआ है। अब मंगलवार को ललन सिंह ने अपनी बात से पीछे हटते हुए साफ किया कि नीतीश जी ने कहा कि तेजस्वी नेतृत्व करेंगे तो वही होगा। लेकिन, इसके साथ ही ललन सिंह ने यह कहकर उलझन को बढ़ा दिया कि बात सिर्फ नेतृत्व करने तक है। मुख्यमंत्री कौन बनेगा, यह विधायक दल की बैठक में तय किया जाएगा। जाहिर है कि ललन सिंह भी खुलकर यह नहीं मानना चाहते हैं कि वह तेजस्वी को मुख्यमंत्री के रूप में स्वीकार कर रहे हैं। इसके बाद ललन सिंह कहते हैं कि जो सोमवार को कहा था, वहीं मंगलवार को भी कह रहा हूं। 2023 में 2025 की बात नहीं हो सकती है। हमारे सामने अभी 2024 है, हम उस पर बात करेंगे। 

नहीं आए तेजस्वी 

सोमवार को ललन सिंह ने जिस प्रकार तेजस्वी यादव को लेकर कहा कि वह नेतृत्व करेंगे या नहीं, यह तय नहीं है। जिसका नतीजा यह हुआ कि मंगलवार को बापू सभागार में किसान सम्मेलन का आयोजन किया गया था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कार्यक्रम में शामिल हुए थे। डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की भी कुर्सी लगी हुई थी, लेकिन उप मुख्यमंत्री नहीं आए। जब मीडिया में इस पर खबरें चलनी शुरू हुई तो आनन फानन में ललन सिंह को आकर सफाई देनी पड़ी। ललन सिंह ने अपना आक्रोश जाहिर करते हुए बताया कि बेमतलब का एजेंडा चलाया जा रहा है। 

उपेंद्र कुशवाहा पर कहा - जहां जाना था, चले गए

उपेंद्र कुशवाहा को लेकर ललन सिंह ने कहा कि जहां उनको जाना था, वहां चले गए। पिछले तीन महीने से वो दिल्ली में किससे कब और कहां मिल रहे थे, सबको पता है। जेडीयू कमजोर होने के सवाल पर ललन सिंह ने कहा कि पार्टी मजबूत है। 70 लाख से अधिक सदस्य बने हैं। कुशवाहा ने कितना सदस्य बनाया? ललन सिंह ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा खुद को मजबूत करने में लगे हैं। कुशवाहा पर तंज कसते हुए कहा कि वे आज तेजस्वी यादव का विरोध कर रहे हैं। कभी वो तेजस्वी के साथ खीर पका रहे थे। यदुवंशी का दूध और कुश का चावल मिला रहे थे। उन्होंने कहा कि बात ये है कि कुशवाहा सुविधा की राजनीति करते हैं।


Find Us on Facebook

Trending News