मोची की जमीन को कब्जे से मुक्त कराने गई पुलिस प्रशासन पर हुआ पथराव, कई पुलिसकर्मी हुए चोटिल

मोची की जमीन को कब्जे से मुक्त कराने गई पुलिस प्रशासन पर हुआ पथराव, कई पुलिसकर्मी हुए चोटिल

NAUGACHHIA : नवगछिया एसडीएम के निर्देश पर ढोलबज्जा थाना क्षेत्र के धोबिनियां बासा में पर्चा धारियां की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा जमाए लोगों को जब हटाने गई राजस्व पदाधिकारी नीतेश कुमार सेठ के साथ स्थानीय पुलिस तो वहां के कब्जाधारियों ने पथराव कर दिया. 

जमीन ढोलबज्जा बाजार निवासी नीकन मोची की पर्चा वाली बतायी जा रही है. जिस पर धोबनियां बासा निवासी जनार्दन यादव अपना कब्जा जमा उस पर घर बना कर रह रहे थे. जहां ढोलबज्जा पुलिस के साथ नवगछिया पुलिस लाइन से पहुंचे करीब 30 पुलिस बल जब जमीन खाली करा नीकन मोची के परिवार को दखल दिलाने पहुंचे तो जनार्दन यादव के परिवार वालों व अन्य समर्थकों ने पुलिस के ऊपर रोड़े पत्थर फेंक जेसीबी मशीन के शीशे तोड़ डाले। वहीं ड्राइवर गोपालपुर थाना क्षेत्र के हरिपुर टोला गोसांय निवासी संजय कुमार, कटिहार की महिला सिपाही प्रिया राज, जमुई जिले के नरहट थाना क्षेत्र के कुशा गांव की सुषमा कुमारी व जमुई जिले के रजनीश कुमार के साथ अन्य महिला सिपाही चोटिल हो गई है। वहीं जनार्दन यादव की एक बेटी भी चोटिल होने की बात बताई जा रही है। 

खुद लगा दी अपने घर में आग

जमीन खाली कराने आए पुलिस प्रशासन को फंसाने की नीयत से कब्जाधारी जनार्दन यादव के परिवार वालों ने खुद से अपने घरों में आग लगा ली। मामला बेकाबू होते देख थानाध्यक्ष प्रभात कुमार व राजस्व पदाधिकारी नीतेश कुमार सेठ ने कुछ उपद्रवियों महिला पुरुष को हिरासत में लेकर इसकी सूचना वरीय पदाधिकारियों को दिया। 

जिसके बाद नवगछिया एसडीएम यतेंद्र कुमार पाल, पुलिस उपाधीक्षक सुनील पाण्डेय, थाना की पुलिस सात इंस्पेक्टर मार्केंडेय सिंह, भरत भूषण, बिहपुर पुलिस के साथ थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह झंडापुर ओपी थानाध्यक्ष भूपेंद्र कुमार व कदवा पुलिस भी सदल बल के साथ मौके पर पहुंचे। उसके बाद एसडीएम ने मोर्चे संभालते हुए हाइकिंग कर लोगों को जगह ख़ाली करने की अपील किया. उसके बाद लोग शांत हुए। वहीं कब्जाधारी जनार्दन यादव को भी समझा बुझाकर पुनः जमीन खाली करवाया गया। 

आठ साल से चल रहा था विवाद

मौके पर पहुंचे नवगछिया सीओ विश्वास आनंद ने बताया कि 7-8 साल से नीकन मोची व जनार्दन यादव के बीच पर्चा वाली जमीन पर विवाद चल रहा था। जांचोपरांत नीकन मोची की कागजात सही पाए गए। लंबे समय से जनार्दन यादव को नोटिस कर जमीन खाली करने कहा जा रहा था लेकिन व जमीन खाली नहीं करा उल्टे उस पर घर बनाते जा रहे थे। वहीं जनार्दन यादव ने मामले की सुनवाई के दौरान थाने में लिखित आवेदन देते हुए स्वेच्छा से जमीन खाली कर देने की बात भी स्वीकार किया था। लेकिन जमीन खाली नहीं कर रहे थे। जिस पर कार्यवाही करते हुए जमीन खाली कर नीकन मोची के परिवार भिखारी राम को कब्जा दिलाया गया है। वहीं देर शाम चौटिल हुए पुलिस कर्मियों के साथ अन्य को ढोलबज्जा पुलिस इलाज के लिए अनुमंडलीय अस्पताल नवगछिया भेजने की प्रक्रिया कर रहे थे।

Find Us on Facebook

Trending News