रंजीत रंजन को लेकर तेजस्वी और राहुल गांधी आमने-सामने, पढ़िए तेजस्वी के इनकार के बाद राहुल का चुनावी वार

रंजीत रंजन को लेकर तेजस्वी और राहुल गांधी आमने-सामने, पढ़िए तेजस्वी के इनकार के बाद राहुल का चुनावी वार

न्यूज़ 4 नेशन डेस्क:  भले ही सुपौल में महागठबंधन के नेताओं ने चुनाव प्रचार से दूरी बना ली हो,लेकिन कांग्रेस अपने उम्मीदवार की जीत के लिए पूरी ताकत झोंक दी है. खुद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 20 अप्रैल को सुपौल आएंगे और वहां अपने प्रत्याशी रंजीत रंजन के पक्ष में जनसभा करेंगे।

दरअसल सुपौल लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी रंजीत रंजन के पक्ष में महागठबंधन में शामिल आरजेडी सहित अन्य दल के नेता चुनाव प्रचार से दूरी बनाए हुए हैं। तेजस्वी यादव सुपौल के आसपास के जिलों में तो चुनाव प्रचार के लिए गए हैं लेकिन सुपौल से  पूरी तरह से अलग हैं। वहीं सुपौल के राजद के नेता और कार्यकर्ता भी कांग्रेस प्रत्याशी का विरोध कर रहे हैं और खुलकर एक निर्दलीय प्रत्याशी के पक्ष में वोट करने की अपील कर रहे हैं।

इसके पीछे की वजह यह है कि कांग्रेस प्रत्याशी रंजीत रंजन पप्पू यादव की पत्नी हैं। पप्पू यादव इस बार मधेपुरा से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं ।जबकि राजद ने शरद यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है ।

राजद पप्पू यादव पर दबाव बना रहा था कि मधेपुरा के चुनाव से वे अपने आपको अलग कर लें तभी राजद उनकी पत्नी रंजीत रंजन को सुपौल में मदद करेगी। लेकिन पप्पू यादव इसके लिए तैयार नहीं हुए ।लिहाजा आरजेडी और उनकी सहयोगी पार्टियों ने सुपौल में चुनाव प्रचार करने से सिर्फ मना ही नहीं किया है बल्कि वहां की पार्टी यूनिट कांग्रेस प्रत्याशी रंजीत रंजन के खिलाफ में काम भी कर रही है. अब अपने प्रत्याशी रंजीत रंजन को जिताने के लिए खुद राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 20 अप्रैल को सुपौल आएंगे और जनसभा को संबोधित करेंगे

Find Us on Facebook

Trending News