पटना में मिली मंकीपॉक्स की मिली संदिग्ध मरीज, जांच के लिए सैम्पल ले गई स्वास्थ्य विभाग की टीम

पटना में मिली मंकीपॉक्स की मिली संदिग्ध मरीज, जांच के लिए सैम्पल ले गई स्वास्थ्य विभाग की टीम

PATNA : देश मे मंकीपॉक्स मरीज का मिलना शुरू हो गया है। आज पटनासिटी में भी एक महिला में मंकीपॉक्स का लक्षण मिलने की बात सामने आई है। पटनासिटी के गुरहट्टा स्थित रामअवतार प्रसाद खत्री लेन में एक महिला को संदिग्ध मानते हुए उसके सैम्पल लिए गए है। हालाँकि जब इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को मिली। तब पीएमसीएच के बायरोलॉजी टीम,डब्लूएचओ की टीम गुरहट्टा स्थित संदिग्ध मरीज के घर पहुँची और उससे सम्बंधित सैम्पल को कलेक्ट किया। 


इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मीडिया के कैमरे के सामने कुछ भी बोलने से मना कर दिया। फिलहाल महिला के बारे में उनके पति ने बताया की पत्नी को बुखार है। जिसके बाद डॉक्टर को हमने दिखाया। जिसके बाद उन्हें मंकी पॉक्स की जांच करा लेने की बात कही गयी। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिए सैम्पल ले गयी है।

उन्होंने बताया की जो पत्नी का कोई भी ट्रेवलिंग हिस्ट्री नही है। फिलहाल जांच के लिए सैंपल स्वास्थ्य विभाग की टीम लेकर चली गयी है। महिला को होम आइसोलेट उनके घर मे करा दी गयी है।

बताते चलें की मंकीपॉक्स का केस पहली बार 1958 में अफ्रीका में देखा गया था। जब मंकी के अंदर बीमारी पाई गई थी। 1970 में पहली बार ये बीमारी ह्यूमन में मिली। लेकिन मंकीपॉक्स नाम सुनकर बंदरों से डरने की जरूरत नही है। क्योंकि मंकी पॉक्स का मंकी से कोई लेना देना नहीं है। एक बार इंसान से इंसान में वायरस फैल जाए तो किसी जानवर का रोल बहुत कम हो जाता है। 

पटनासिटी से रजनीश की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News