जातीय जनगणना को लेकर तेजस्वी यादव फिर पीएम को लिखेंगे पत्र, सीएम नीतीश ने कहा- हम तो चाहते हैं जातिगत जनगणना हो, फैसला तो केंद्र को लेना है

जातीय जनगणना को लेकर तेजस्वी यादव फिर पीएम को लिखेंगे पत्र, सीएम नीतीश ने कहा- हम तो चाहते हैं जातिगत जनगणना हो, फैसला तो केंद्र को लेना है

पटना. बिहार में जातीय जनगणना पर सियासत रुकने का नाम नहीं ले रहा है. तेजस्वी यादव ने इस पर फिर से पीएम मोदी को पत्र लिखने की बात कही है. इसके बाद अब बिहार के सीएम नीतीश कुमार भी जातीय जनगणना को लेकर बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि इसको लेकर पीएम मोदी से बात की गयी है. वहां से फैसले आने के बाद ही आगे इस पर कुछ कहा जा सकता है. साथ ही उन्होंने कहा कि जातीय जनगणना की मांग सिर्फ बिहार ही नहीं कई राज्य की ओर से की जा रही है. 

बिहार के सीएम नीतीश कुमार जनता दरबार के बाद मीडिया से रूबरू हुए. इस दौरान उन्होंने जातयी जगणना को लेकर कहा कि अभी तक पीएम मोदी से इस पर कोई जवाब नहीं आया है. इसको लेकर बिहार से एक प्रतिनिधि मंडल पीएम से मिला था. इसमें बिहार के सभी दल के प्रतिनिधि थे. अब केंद्र सरकार के हाथ में है, जगणना करवाने का काम केंद्र का होता है. साथ ही उन्होंने कहा कि इसको लेकर बिहार से लेकर दिल्ली तक के मीडिया से बात हो चुकी है.

इस दौरान उन्होंने कहा कि कुछ लोग जातयी जगणना को लेकर टिप्पणी करते है कि इससे विघटन होगा, लेकिन इससे विकास होगा. साथ ही उन्होंने कहा कि अभी जनगणना शुरू नहीं हुई है. जब शुरू होगी और जातीय जगणना पर कुछ भी फैसला होगा, तो हम आपको बात पाऊंगा. साथ ही उन्होंने कहा कि जातीय जगणना पूरा देश चहता है. बिहार के अलावा भी कई राज्य सरकार भी केंद्र सरकार से जातीय जनगणना की मांग कर रही है.

तेजस्वी यादव फिर लिखेंगे पीएम को पत्र

बता दें कि जातीय जागणना को लेकर राजद नेता और बिहार नेता प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने जातीय जनगणना को लेकर एक बार फिर पीएम मोदी को पत्र लिखने की बात कही है. इस दौरान उन्होंने बिहार सरकार और केंद्र सरकार पर हमलावर भी दिखे. तेजस्वी यदाव जातीय जगणना को लेकर सरकार को लगातार निशाने पर ले रहे हैं. वे कई बार कह चुके हैं कि या जातीय जनगनणा केंद्र करवाएं या फिर बिहार सरकार अपने पैसे से राज्य में करवाएं. जातीय जनगणना को लेकर उन्होंने आंदोलन की बात भी कह चुके हैं.

Find Us on Facebook

Trending News