तेजस्वी का शायराना अंदाज - ''जिस दिन से चला हूँ मंज़िल पे नज़र है, आँखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा''

तेजस्वी का शायराना अंदाज - ''जिस दिन से चला हूँ मंज़िल पे नज़र है, आँखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा''

पटना। विधानसभा में बजट सत्र के पहले दिन महफिल लूटने वाले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी का शायराना अंदाज देखने को मिला है। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर बशीर बद्र की शायरी को अपने काम से जोड़ते हुए लिखा है कि 'जिस दिन से चला हूँ मंज़िल पे नज़र है आँखों ने कभी मील का पत्थर नहीं देखा'। इस ट्विट के जरिए यह बताने की कोशिश है कि वह बिहार में आनेवाली किसी भी समस्या के निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. 

दरअसल, तेजस्वी ने यह ट्विट पार्टी के अधिकृत ट्विटर पर शेयर किए गए बातों को लेकर की है। राजद के ट्विटर हैंडल पर तेजस्वी यादव द्वारा उनके आवास पर देर शाम लोगों की समस्या का निदान करते हुए कुछ तस्वीरें साझा की गई है, जिसके साथ तेजस्वी की तुलना सीएम नीतीश कुमार से की है। पार्टी के ट्विटर हैंडल पर तेजस्वी के लिए लिखा गया है आम नागरिकों की समस्याओं के प्रति नेता प्रतिपक्ष श्री @yadavtejashwi जी जितने संवेदनशील हैं, उनमें जितना संयम है, समझ है, उनके निदान के लिए जैसी तत्परता है, उसका एक अंश भी अगर CM @NitishKumar, उनकी सरकार में होता तो बिहारवासियों की वह दुर्गति नहीं होती जिससे वह आज जूझ रहे हैं!


नीतीश पर उठाए सवाल

इस ट्विट के माध्यम से राजद ने सीधे सीएम नीतीश कुमार पर हमला किया है। राजद का स्पष्ट कहना है कि बिहार के मुख्यमंत्री को राज्य के लोगों की समस्या की परवाह नहीं हैं और न ही उनके मंत्री ही इससे कोई मतलब रखते हैं 


Find Us on Facebook

Trending News