तेजस्वी यादव को अपने हीं इन तीन विधायकों ने दे दिया गच्चा....राजद MLA के दावे की अब हो रही पुष्टि

तेजस्वी यादव को अपने हीं इन तीन विधायकों ने दे दिया गच्चा....राजद MLA के दावे की अब हो रही पुष्टि

PATNA: तेजस्वी यादव के तीन विधायक राजद को बाय-बाय कहने वाले हैं।दो विधायकों ने तो अपनी मंशा को क्लीयर कर ही दिया है।वहीं राजद के तीसरे विधायक भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सभा में शामिल होकर उनका गुणगान कर मैसेज दे दिया है।बता दें कि सबसे पहले गायघाट से राजद विधायक महेश्वर प्रसाद यादव ने बगावत का झंडा बुलंद करते हुए यह दावा किया था कि पार्टी के कई विधायक तेजस्वी से नाराज हैं और राजद छोड़ने वाले हैं.

राजद के तीनों विधायक सत्ताधारी जेडीयू के संपर्क में हैं।लालू प्रसाद के विधायक महेश्वर प्रसाद यादव और फराज फातिमी ने तेजस्वी यादव का नेतृत्व मानने से इनकार कर दिया है और कह दिया है कि उनके नेता नीतीश कुमार हैं।वहीं तीसरे विधायक प्रहलाद यादव भी कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री की हरियाली यात्रा में शामिल होकर उनका जमकर गुणगान किया था।उसके बाद से हीं ये कयास लगने शुरू हो गए हैं कि तेजस्वी का यह विधायक भी नीतीश कुमार के खेमे में जाने वाले हैं।

राजद विधायक ने कहा-2020 में भी नीतीश कुमार हीं सीएम होंगे

गायघाट के राजद विधायक महेश्वर यादव तो काफी पहले से हीं पार्टी से बगावत किए हुए थे।उन्होंने आगामी चुनाव जेडीयू के टिकट से लड़ने का ऐलान भी किया हुआ है।उसके बाद जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह की ओर से बुधवार को आयोजित दही-चूड़ा भोज में दरभंगा के केवटी से आरजेडी विधायक फराज फातिमी के पहुंच गए।उनके पहुंचते ही बिहार की सियासी सरगर्मी बढ़ गयी. मालूम हो कि आरजेडी के मुखिया लालू प्रसाद के करीबी रहे दरभंगा से सांसद और केंद्रीय मंत्री रहे अली अशरफ फातमी पिछले साल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में आस्था जताते हुए जेडीयू का दामन थाम चुके हैं, जबकि उनके बेटे फिलहाल आरजेडी में विधायक हैं.आरजेडी विधायक ने पार्टी नेतृत्व को झटका देने के साथ ही पार्टी के प्रति नाराजगी भी जतायी. पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि तेजस्वी यादव एनआरसी के खिलाफ रैली क्यों निकाल रहे हैं? अब जबकि राज्य सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि वे इसे राज्य में लागू नहीं करेंगे.साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री का पक्ष लेते हुए कहा कि बिहार में नीतीश कुमार से बड़ा कोई चेहरा नहीं है और वही2020 में सरकार बनायेंगे.

राजद MLA के दावे की अब हो रही पुष्टि

मुजफ्फरपुर के गायघाट से राजद विधायक महेश्वर प्रसाद यादव ने ऐलान कर दिया है कि वे अगला विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू से लड़ेंगे. कुछ दिन पहले उन्होंने यह भी कहा था कि तेजस्वी यादव बीजेपी ने्ता  गिरिराज सिंह से मिले हुए हैं ,और दोनों मिलकर बिहार में मध्यावधि चुनाव कराना चाहते हैं. इसलिए मैं राजद का साथ छोड़कर जेडीयू में जा रहा हूं. राजद विधायक ने यह भी कहा था कि अधिकांश आरजेडी विधायक नीतीश कुमार के समर्थन में खड़े हैं. महेश्वर यादव ने दावा किया कि पार्टी के दो तिहाई विधायक मेरे साथ हैं

प्रह्लाद यादव ने भी सीएम नीतीश का किया था गुणगान

वहीं तीसरे राजद विधायक विधायक प्रह्लाद यादव नीतीश कुमार की शान में तारीफों के पुल बांधने लगे हैं. कुछ दिन पहले लखीसराय के सूर्यगढ़ा में आयोजित जल, जीवन हरियाली यात्रा से जुड़ी आमसभा में मंच पर मौजूद विधायक प्रह्लाद यादव ने न केवल शराबबंदी कानून की खुलकर प्रशंसा की, बल्कि सीएम के जल, जीवन, हरियाली अभियान को भी आम लोगों के साथ-साथ पशुओं के लिए बेहद उपयोगी करार दिया. प्रह्लाद यादव का यह बयान पार्टी-लाइन से अलग है, जिसे सुनकर वहां मौजूद लोग हैरान रह गए.राजद विधायक ने सीएम की सिर्फ तारीफ ही नहीं की, बल्कि उनके सामने अपने क्षेत्र से संबंधित मांगें भी रखीं. प्रह्लाद यादव ने मंच से ही सूर्यगढ़ा को अनुमंडल बनाने और राजेंद्र पुल को चालू रखने की मांग उठाई. सीएम नीतीश कुमार ने अपने संबोधन के दौरान विधायक को भरोसा दिलाया कि उनकी मांगों को लेकर मुख्य सचिव को ठोस और कारगर कार्रवाई करने का निर्देश दे दिया गया है

Find Us on Facebook

Trending News