झोलाछाप डॉक्टर ने नाटकीय अंदाज में खुद के हत्या की रची थी साजिश... पकड़े जाने पर खोला राज..

 झोलाछाप डॉक्टर ने नाटकीय अंदाज में खुद के हत्या की रची थी साजिश... पकड़े जाने पर खोला राज..

कैमूर... जिले में अजब-गजब मामला सामने आया है। पति की प्रताड़ना से तंग आकर पत्नी की हत्या की बातें तो लोगों ने सुना ही था, लेकिन पत्नी की प्रताड़ना से तंग आकर पति ने अपनी हत्या की साजिश रच डाला। लेकिन पुलिस ने इस मामले की गुत्थी 24 घंटे के अंदर सुलझाते हुए पति को सकुशल यूपी से बरामद कर दिया। दरअसल पूरा मामला दुर्गावती थाना क्षेत्र के कुरारी गांव का है। प्रदीप कुमार राम जो गांव में ही झोलाछाप चिकित्सक के रूप में काम करता है और उनकी पत्नी प्रतिभा कुमारी दुर्गावती की चिपली में एक विद्यालय में शिक्षिका है। पत्नी अपने पति को इस कदर टॉर्चर करती थी कि पति पत्नी से बचने के लिए खुद ही खुद के हत्या की साजिश रच डाला और आसपास बकरे का खून डालकर मामले में अपनी हत्या साबित करना चाहा और फरार हो गया। लेकिन पुलिस के सामने उसकी एक न चली फिर वह नाटकीय अंदाज में पकड़ा गया। पुलिस के पकड़ में आने के बाद कहा कि पत्नी की प्रताड़ना से तंग आकर चले गए थे बाहर।

जानकारी देते हुए कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया दुर्गावती थाना के कुरारी गांव में प्रदीप कुमार अपने नवनिर्मित मकान में सोने गया था। जब सुबह उनकी पत्नी प्रतिभा कुमारी मकान पर उन्हें जगाने के लिए गई तो देखी कि प्रदीप कुमार बिस्तर पर नहीं है और बिस्तर पर मकान के कई जगहों पर काफी मात्रा में खून बिखरा पड़ा है। सूचना पर तत्काल दुर्गावती थाना अध्यक्ष और डीआईओ की टीम घटनास्थल पर पहुंचकर काफी खोजबीन कि कहीं पता नहीं चला। फिर शिक्षिका पत्नी की दिए आवेदन पर दुर्गावती थाना में कांड अंकित कर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मोहनिया के नेतृत्व में छानबीन करने लगी तो गायब हुए प्रदीप कुमार का मोबाइल बेड पर ही मिला। तब पुलिस द्वारा डॉग स्क्वायड टीम के लिए सासाराम, गया और पटना से संपर्क किया गया। 

साथ ही आसपास के तालाबों, पूवालों के ढेर तथा विभिन्न जगहों पर पुलिस लापता व्यक्ति को तलाश रही थी। इसी बीच काफी खोजबीन के बाद घटनास्थल से लगभग आधा किलोमीटर की दूरी पर एक बंद चारदीवारी के अंदर एक बिसलेरी का बोतल पाया गया जिसमें खून लगा था जो घटना स्थल पड़े खून के जैसा ही था। जिससे पुलिस को संदेह हुआ फिर तकनीकी अनुसंधान के आधार पर पुलिस ने प्रदीप कुमार को गाजीपुर के जमनिया से सकुशल बरामद किया। 

पूछताछ के क्रम में उन्होंने बताया कि पत्नी आए दिन इन्हें गाली गलौज और प्रताड़ित करते रहती थी। इसी से तंग आकर योजनाबद्ध तरीके से खजुरा बाजार से बकरा काटने की दुकान से बकरा का एक बोतल खून खरीद कर लाया और खून को जमने से रोकने के लिए केमिकल मिला दिया और अपने सोने वाले बिस्तर और उसके आसपास सभी जगह खून को गिराकर वहां से भाग गया। मामला 420 में अंकित किया गया है। बेलेबूल सेक्शन होने के कारण फिलहाल इनको जमानत पर छोड़ा जा रहा है।


Find Us on Facebook

Trending News