चारों ओर पानी से घिरे टीले पर घंटों अकेले फंसी रही युवती, पुलिस ने इस तरह किया रेस्क्यू

चारों ओर पानी से घिरे टीले पर घंटों अकेले फंसी रही युवती, पुलिस ने इस तरह किया रेस्क्यू

DUMKA : मसानजोर में मयूराक्षी नदी के मझधार में एक किशोरी करीब 2 घंटे से ज्यादा समय तक चारों ओर से पानी से घिरे एक टीलानुमा चट्टान पर अकेली फंसी रही। यह घटना बुधवार को झारखंड के दुमका जिला में मसानजोर के पास रानीबहाल पुल की नीचे हुई। आसपास के लोगों की सूचना पर मसानजोर और टोंगरा थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और रेस्क्यू कर युवती को सुरक्षित नदी किनारे लाया। युवती की पहचान टोंगरा थाना क्षेत्र के मुड़जोड़ा गांव की करीब 16 वर्षीय प्रतिमा हांसदा के रूप में की गयी है। 

नदी की तेज धारा में बही

बताया गया कि मयूराक्षी में पानी का जलस्तर बढ़ा रहने के कारण मसानजोर डैम का 7 गेट खोल कर पानी छोड़ा जा रहा है। डैम के प्रत्येक गेट से प्रति घंटा 2500 क्यूसेक पानी छोड़े जाने के कारण नदी की धार काफी तेज है। इसी दौरान युवती नदी किनारे शौच के लिए गई हुई थी,लेकिन पैर फिसलने से वह नदी में गिर गई। जिसके बाद तेज धार में वह किशोरी बह गई थी। मयूराक्षी नदी में कई स्थान पर चट्टान है। रानीबहाल पुल के नीचे ऐसे ही टीलानुमा चट्टान को प्रतिमा ने पकड़ लिया जिससे उसकी जान बच गई। 

सुबह लोगों ने देखा तो पुलिस को दी सूचना

काफी देर तक वह नदी के बीच टीला पर फंसी रही। वहां से निकलना उसके लिए चुनौती थी। इस बीच सुबह हो गई। सुबह मॉर्निंग वाक पर निकले आसपास के लोगों की उस पर नजर पड़ी तो पुलिस को सूचना दी गई। 

मसानजोर के थाना प्रभारी मनोज राय ने बताया कि पुलिस को सूचना मिलने के करीब आधा घंटा के अंदर ही प्रतिमा हांसदा को सुरिक्षत निकाल कर उसके परिजनों को सौंप दिया गया।

Find Us on Facebook

Trending News