चिराग नेता नहीं नेता के 'बेटा' हैं, आई कार्ड दिखाकर राजनीति करते हैं ऐसे लोग, BJP ने बिहार के दोनों "युवराज" को दिखा दी जमीनी हकीकत

चिराग नेता नहीं नेता के 'बेटा' हैं, आई कार्ड दिखाकर राजनीति करते हैं ऐसे लोग, BJP ने बिहार के दोनों "युवराज" को दिखा दी जमीनी हकीकत

PATNA : रामविलास पासवान के बरसी पर जिस तरह से चिराग तेजस्वी के बीच नजदीकियां देखने को मिली, उसके बाद भाजपा की तरफ से बिहार के दोनों युवराजों को जमीनी हकीकत का सामना करा दिया है। भाजपा के एमएलसी नवल किशोर यादव ने दोनों युवराजों पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने दोनों युवराजों को नेता मानने की बात को लोगों का भ्रम करार दिया है। भाजपा एमएलसी ने  कहा है कि नेता के बेटा हैं चिराग-तेजस्वी, नेता नहीं। हमारे यहां नेता पैदा होते हैं, उनके यहां बेटा, उनके यहां बेटा द्वारा पार्टी संचालित होती है, हमारे यहां नेता पार्टी संचालित करते हैं। ऐसे लोग अपने बाप दादा के नाम का आईकार्ड दिखाकर राजनीति करते हैं।  

अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहनेवाले नवल किशोर यादव ने चिराग-तेजस्वी को असलियत का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि  उनके यहां वंशवाद से पार्टी चलती है, हमारे यहां विचारों से पार्टी चलती है। दोनों में फर्क है। इसलिए बेटा को नेता घोषित नहीं करना चाहिए। बाप दादा के नाम का आईकार्ड दिखाकर राजनीति करनेवाले भाजपा का मुकाबला नहीं कर सकते हैं।

चिराग-तेजस्वी की नजदीकी पर बोले – हम शादी बरसी की राजनीति नहीं करते

इस दौरान उन्होंने कहा तेजस्वी चिराग की बढ़ती राजनीतिक नजदीकियों को लेकर यहां कुछ भी स्थायी नहीं होती है। भाजपा एमएलसी ने कहा कि हमारी पार्टी विचारों से चलती है। शादी विवाह जैसे कार्यक्रम को लेकर पार्टी किसी प्रकार की राजनीति नहीं करती है। यह हमारी पार्टी की विचारधारा नहीं है। 

बिहार में सरकार को कोई खतरा नहीं

जिस तरह गुजरात सहित भाजपा शासित दूसरे राज्यों में सीएम बदले गए, क्या बिहार में भी इसका कुछ असर होगा, इस पर उन्होंने साफ कर दिया कि दूसरे राज्यों में जो हुआ, वह बिहार में हाल फिलहाल नहीं होगा। बिहार में नीतीश सरकार बेहतर काम कर रही है। इसलिए यहां सीएम को बदलने का कोई मुद्दा नहीं है।





Find Us on Facebook

Trending News