सफाई कर्मी की हड़ताल के चलते नारकीय हो चुकी है स्थिति, नगर निगम ने कसी कमर, लिया ये फैसला

सफाई कर्मी की हड़ताल के चलते नारकीय हो चुकी है स्थिति, नगर निगम ने कसी कमर, लिया ये फैसला

गया. विगत एक हफ्ते से नगर निगम सफाई कर्मियों की हड़ताल के कारण शहर की नारकीय हो चुकी स्थिति से निपटने को लेकर नगर निगम ने कमर कस ली है. इसको लेकर सोमवार को नगर निगम सभागार में एक विशेष बैठक की. इसमें नगर आयुक्त सावन कुमार, मेयर गणेश पासवान, डिप्टी मेयर मोहन श्रीवास्तव सहित कई वार्ड काउंसलर एवं निगम के अधिकारी शामिल हुए. बैठक में विशेष रूप से साफ सफाई को लेकर चर्चा की गई. इस दौरान डिप्टी मेयर मोहन श्रीवास्तव ने कहा कि निगम के सफाई कर्मियों के द्वारा की गई हड़ताल के कारण शहर की स्थिति नारकीय हो गई है. जगह-जगह कूड़ा पड़े रहने के कारण बदबू आ रही है.

उन्होंने कहा कि शहर के लोग इसके निदान हेतु गुहार लगा रहे हैं. साथ ही पितृपक्ष में पिण्डदानी भी पहुंचने वाले हैं. ऐसे में निगम प्रशासन ने यह निर्णय लिया है कि मंगलवार से मेयर, डिप्टी मेयर व नगर आयुक्त, वार्ड पार्षद अपने नेतृत्व में सफाई कार्य को अंजाम देंगे. इसकी शुरुआत विश्व प्रसिद्ध विष्णुपद मंदिर के समीप से की जाएगी. यहां हमलोग स्वयं सड़कों पर झाड़ू लगाकर सफाई कार्य करेंगे. इसके अलावा शहर के विभिन्न इलाकों में कचरे के उठाव के लिए ट्रैक्टर लगाए जाएंगे. वार्ड पार्षदों के द्वारा अपने-अपने वार्ड में 10-10 लोगों को सफाई कार्य को लेकर तैयार रहने को कहा गया है, ताकि सफाई कार्य की वैकल्पिक व्यवस्था हो सके.

उन्होंने कहा कि जो सफाई कर्मी अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं, उनसे हमारा कोई शिकायत नहीं है. वे लोग संवैधानिक तरीके से अपनी हड़ताल को हड़ताली स्थल पर जारी रखें, लेकिन नगर निगम कार्यालय में आकर नगर आयुक्त कार्यालय के मुख्य द्वार पर प्रदर्शन करना एवं सरकारी कार्य को बाधित करना, कहीं से भी सही नहीं है. हमारी संवेदना उनके साथ है. हम कहीं से भी उनको किसी तरह का नुकसान पहुंचाने का भाव नहीं रखते हैं, लेकिन सफाई कार्य भी जरूरी है.

बहुत जल्द पितृपक्ष शुरू होने वाला है. इस दौरान बाहर से भी तीर्थयात्री आएंगे, ऐसे में शहर की नगण्य सफाई व्यवस्था से उनकी भावना को ठेस पहुंचेगे. इसलिए वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर कल से शहर में सफाई कार्य व कूड़े का उठाव शुरू किया जाएगा. साथ ही विधि-व्यवस्था बनी रहे, इसके लिए जिला प्रशासन से पुलिस बल की भी मांग की गई है, ताकि कहीं किसी तरह की कोई अप्रिय बात ना हो सके.

Find Us on Facebook

Trending News