मां की चिता को आग देकर लौट रहा था बेटा, समय की नियति ऐसी कि घर पहुंचने से पहले खुद हो गया हादसे का शिकार

मां की चिता को आग देकर लौट रहा था बेटा, समय की नियति ऐसी कि घर पहुंचने से पहले खुद हो गया हादसे का शिकार

NALANDA : जिले के चेरो ओपी क्षेत्र में मौत की ऐसी घटना सामने आई है, जिससे सुनने के बाद किसी का भी दिल पसीज जाएगा। यहां एक बेटा अपनी मां का अंतिम संस्कार करके वापस लौट रहा था। अभी मां की चिता की आग ठंडी भी नहीं हुई थी कि एक हादसा हो गया और मां की मौत से गमजदा बेटा खुद भी मातृत्व की छांव में चला गया। एक सड़क हादसे में युवक की मौत हो गई, वहीं उसके साथ पांच अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

हादसा ओपी क्षेत्र के  नेशनल हाईवे 20 पर संगम ढाबा के समीप मां की दाह संस्कार कर लौट रहे बेटे की मौत हो गई। जबकि हादसे में पांच लोग जख्मी हो गए हैं। मृतक सोहसराय थाना इलाके के महुआतल  मोहल्ला निवासी स्व. सरयुग सांव का 45 वर्षीय पुत्र सिद्धानाथ साव है। बताया गया कि मृतक की मां का देहांत गुरुवार की देर शाम हो गया था। जिनका दाह संस्कार के लिए जीप के बाढ़ स्थित उमानाथ धाम ले जाया गया था। आज करीब 11 बजे दाह संस्कार कर जब सभी लोग से लौट रहे थे तभी चेरो ओपी के  संगम ढाबा के पास पहले से खड़ी टैंकर में ड्राइवर ने टक्कर मार दी। करीब आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए। 


घटना की सूचना मिलते ही चेरो थाना पुलिस मौके पर पहुंच कर घायलों को इलाज के लिए अस्पताल लायी । जहां सिद्धनाथ साव को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया । ओपी प्रभारी उमाशंकर ने बताया कि ड्राइवर को झपकी आ गई थी जिसके कारण पहले से खड़ी गाड़ी में जीप टकरा गई और 1 व्यकि की मौत हो गई। घायलों को इलाज के बाद अस्पताल से घर भेज दिया गया है । शव का पोस्टमार्टम करा कर परिजन को सौप दिया गया है । 

Find Us on Facebook

Trending News