बिहार के 7 नदियों का बढ़ने लगा जलस्तर, 11 जिलों में मंडराने लगा बाढ़ का खतरा

बिहार के 7 नदियों का बढ़ने लगा जलस्तर, 11 जिलों में मंडराने लगा बाढ़ का खतरा

N4N DESK : बिहार में भले ही मानसून ने दस्तक दे दिया है। लेकिन अभी तक तेज बारिश की शुरुआत नहीं हुई है। इसके बावजूद राज्य के तक़रीबन 11 जिले में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। बिहार की 11 नदियों में से 7 का जलस्तर बढ़ने से लोगों की चिंताएं बढ़ने लगी है। खासकर बागमती, कोसी और कमला बलान के जलस्तर में तेजी से इजाफा हो रहा है।

अररिया, कटिहार, किशनगंज, मधेपुरा, दरभंगा, मधुबनी, पूर्णिया, सहरसा, सीतामढ़ी, शिवहर और सुपौल जिले की बात करें तो यहाँ अभी से बाढ़ आने के संकेत मिलने लगे हैं।  में बाढ़ के संकेत मिलने लगे हैं। सुपौल और अररिया में कम से कम दो प्रखंडों के 40 से अधिक व करीब 4 लाख की आबादी पानी के बहाव से प्रभावित हुई है। यहां कटाव की वजह से 100 से अधिक घर अभी ही नदी में समा गए हैं। दोनों नदियों में बढ़े जलस्तर की बड़ी वजह नेपाल में हुई भारी बारिश बताई जा रही है। हालाँकि शिवहर, सीतामढ़ी, दरभंगा, मधुबनी, सुपौल और अररिया में बढ़ते जलस्तर की वजह से लोगों का पलायन शुरू हो गया है। 

वहीँ किशनगंज, समस्तीपुर, बेगूसराय, खगड़िया और मुंगेर में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। सारण, वैशाली, लखीसराय, जमुई, बांका, भागलपुर, मुंगेर, बेगूसराय, खगड़िया के कुछ भागों में मध्यम बादल गरजने और बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। पश्चिम चंपारण, सीवान, सारण, भोजपुर, बक्सर, कैमूर, रोहतास, अरवल में वज्रपात का भी अलर्ट है।

Find Us on Facebook

Trending News