कमांडेंट के खिलाफ हुए होमगार्ड जवान, लगाया आरोप - पहले बेवजह करते हैं संस्पेंड, फिर आदेश वापस लेने के लिए करते हैं पैसों की मांग

कमांडेंट के खिलाफ हुए होमगार्ड जवान, लगाया आरोप - पहले बेवजह करते हैं संस्पेंड, फिर आदेश वापस लेने के लिए करते हैं पैसों की मांग

KATIHAR : जिले के गृह रक्षा वाहिनी के जवानों ने अपने ही समादेष्टा के खिलाफ बगावत का बिगूल फूंक दिया है। होमगार्ड जवानों का आरोप है कि कमांडेंट पहले ड्यूटी के नाम पर जवानों को सस्पेंड करते हैं, फिर आदेश वापस लेने के नाम पर पैसे की मांग करते हैं। गृह रक्षा वाहिनी कमांडेंट पर लगे आरोपों के बाद महकमे में हड़कंप मच गया है।

यहां कार्यरता जवानों के आरोप है इस अवैध उगाही के लिए समादेष्टा ने बतौर दो स्टाफ को एजेंट बना कर रखा है, जिनके माध्यम से वह लेन देन का पूरा काम करते हैं। लेन-देन के लिए कोई जवान तैयार नहीं होने पर उस जवान को बुरी तरह प्रताड़ित किया जाता है, । गृह रक्षा वाहिनी के जवानों की मानें तो वो लोग कई स्तर पर समादेष्टा का शिकायत कर चुके हैं। लेकिन अब तक नतीजा जस के तस है. जवानों का आरोप है कि समादेष्टा  ड्यूटी देने के नाम पर पांच से छह हजार और निलंबन उठाने के नाम पर पच्चीस से तीस हज़ार रुपया कमांडेंट वसूलवाते है,जिसके कई स्तर पर शिकायत कर वो लोग इंसाफ की मांग कर रहे हैं। 

यहां काम करनेवाले एक होमगार्ड ने बताया कि यहां वर्दी का पैसा आया, लेकिन किसी को नहीं मिला। ड्यूटी पर भेजने के लिए पांच से छह हजार की मांग की जाती है। वहीं अगर कोई आरोप लगते हैं, तो उसके लिए भी अलग से पैसे की मांग की जाती है। होमगार्ड जवान ने बताया कि समादेष्टा की कारगुजारियों की शिकायत डीजी साहब और गृह विभाग तक की गई, वहां से कागज भी आया, लेकिन यहां मामले को दबा दिया गया। जिसके कारण सभी होमगार्ड परेशान हैं। 

हालांकि अपने ऊपर लगे आरोपों को लेकर जब कमांडेंट से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने अपने व्यस्तता का हवाला देते हुए समादेष्टा इन आरोपों पर जवाब देने से इनकार कर दिया। इन सबके बीच जिस तरह से कटिहार जिला समादेष्टा कार्यालय में भ्रष्टाचार का खेल का मामला सामने आया है, उसे लेकर हर कोई हैरान है।

Find Us on Facebook

Trending News