बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

LATEST NEWS

बिहार में त्योहारों के दौरान होगी निर्बाध एवं सुरक्षित बिजली आपूर्ति, ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव संजीव हंस का विशेष निर्देश

 बिहार में त्योहारों के दौरान होगी निर्बाध एवं सुरक्षित बिजली आपूर्ति, ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव संजीव हंस का विशेष निर्देश

पटना . बिहार में त्योहारों के दौरान निर्बाध एवं सुरक्षित बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए विद्युत विभाग विशेष तैयारियां कर रहा है. ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव सह बीएसपीसीएल के सीएमडी संजीव हंस के अनुसार दुर्गा पूजा, दिवाली एवं आस्था के महापर्व छठ के दौरान निर्बाध एवं सुरक्षित बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए विभाग तत्पर एवं तैयार है। त्योहारों के दौरान बिजली आपूर्ति में किसी तरह की बाधा न हो, इसके लिए विभाग ने काफी पहले से तैयारियां शुरू कर दी थी। नवरात्रि से पहले सभी खराब ट्रांसफार्मरों को बदलने का निर्देश है। त्योहार के दौरान अचानक लोड बढ़ने से ट्रांसफार्मर जलने या खराब होने की स्थिति में उसके स्थान पर ज्यादा क्षमता वाले ट्रांसफार्मर अविलंब लगाने की भी तैयारी की गई है। इसके लिए ट्रांसफार्मर, ऑयल, ट्रांसफार्मर ढोने वाली ट्राली सहित सभी जरूरी सामग्रियों की व्यवस्था कर ली गई है।



वहीं सभी 33 केवी तथा 11 केवी लाइनों के अलावा डिस्ट्रीब्यूशन सब स्टेशन का समुचित अनुरक्षण एवं मेंटेनेंस का काम नवरात्रि से पहले पूरा कर लिया जाएगा। साथ ही रोड क्रॉसिंग अथवा भीड़ भाड़ वाले जगहों में गार्ड वायर लगेंगे। विभाग की टीम द्वारा पूजा पंडाल के आसपास के इलाकों में घूम कर बिजली के ढीले एवं जर्जर तारों को दुरुस्त किया जा रहा है। जहां कवर वायर नहीं है, वहां पर तार में सेपरेटर लगाया जा रहा है, ताकि किसी कारणवश तार टूटने की स्थिति में कोई अप्रिय घटना न हो। इसके अलावा पंडाल के संचालकों से वे अपने क्षेत्राधिन प्रत्येक पंडाल को अस्थाई विद्युत संबंध नियम के अनुसार देना सुनिश्चित करेंगे।



सभी अभियंताओं को पंडाल संचालकों से संपर्क कर सुनिश्चित करना है कि पंडाल एवं लाइन के बीच की दूरी इंडियन इलेक्ट्रिसिटी रूल 1956 के अनुरूप हो। इसके अलावा सर्वे के दौरान विद्युत लाइन में इंसुलेटर क्षतिग्रस्त होने की स्थिति में उसे तुरंत बदला जाएगा। जिस वितरण ट्रांसफॉर्मर से पंडाल क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति होती है, उसके क्षमता का सही आकलन करने के बाद आवश्यकतानुसार उचित कार्रवाई की जाएगी। कहीं भी पंडाल लाइन से सटाकर बनाया जा रहा हो तो आयोजक से संपर्क कर उन्हें समझना है। नहीं मानने की स्थिति में संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी एवं पुलिस प्रशाशन को सूचित किया जाएगा ताकि विद्युत संबंधित कोई दुर्घटना न हो। पूजा के दौरान भीड़ वाले क्षेत्र में विद्युत कर्मियों एवं कनीय विद्युत अभियंताओं की नियुक्ति तय की जाएगी।



ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव सह बीएसपीसीएल के सीएमडी संजीव हंस ने कहा कि सभी अभियंताओं को यह निर्देश दिया गया है कि वे पूजा पंडाल के आसपास लगातार भ्रमण करें। इसके अलावा पूजा के दौरान बिजली व्यवस्था सुचारू बनाए रखने हेतु विशेष टेंपररी कंट्रोल रूम का भी निर्माण किया जाएगा। पूजा पंडालों के सचिव को लोड के अनुरूप उचित क्षमता के तारों का प्रयोग करने के निर्देश दिये गये हैं, ताकि किसी भी तरह की शार्ट सर्किट या अन्य दुर्घटना की आशंका न रहे।



उन्होंने कहा कि समस्त ऊर्जा परिवार सुरक्षित एवं शांतिपूर्ण दुर्गा पूजा के लिए तैयार है। विद्युत संबंधित इमरजेंसी की स्थिति में सभी पंडालों में  अभियंताओं के नंबर उपलब्ध रहेंगे। हमारा हेल्पलाइन 24 घंटे चालू रहेगा। इसके अलावा ज्यादा भीड़ वाले इलाके में लाइनमैन अपने ड्रेस में घूमते रहेंगे जिससे उनकी पहचान आसनी से हो सके। उन्होंने उपभोक्ताओं से बिजली संबंधित सुरक्षा नियमों का पालन करने हेतु अनुरोध किया एवं पूजा की अग्रिम बधाई दी।



बीएसपीएचसीएल के सीनियर प्रोटोकॉल अधिकारी ख़्वाजा जमाल ने कहा कि हमारी टीम दुर्गा पूजा के दौरान सुरक्षित बिजली आपूर्ति करने हेतु पूरी तैयार है। हम अपने सोशल मीडिया हैंडल के माध्यम से भी लोगों को बिजली संबंधित सुरक्षा नियमों के विषय में जागरूक कर रहे हैं। साथ ही विभाग द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर का प्रचार कर रहे हैं।


Suggested News