कलेक्टर के खाते से पटना के इस दंपत्ति ने निकाल लिए करोड़ों रुपए, लेकिन एक गलती ने पहुंचाया जेल, छत्तीसगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार

कलेक्टर के खाते से पटना के इस दंपत्ति ने निकाल लिए करोड़ों रुपए, लेकिन एक गलती ने पहुंचाया जेल, छत्तीसगढ़ पुलिस ने किया गिरफ्तार

PATNA : पटना के फुलवारी शरीफ से छत्तीसगढ़ के जिला अधिकारी से 1.29 करोड रुपए अकाउंट से फर्जी निकासी का मामला सामने आया है। इस मामले में रविवार को ईसापुर से छत्तीसगढ़ की पुलिस एक पति पत्नी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उनके पास से एक स्कूटी गाड़ी एवं 11 हजार रुपए नकद भी बरामद किए हैं। पटना के न्यायालय में पेश करने के बाद दोनों पति-पत्नी को छत्तीसगढ़ की पुलिस अपने साथ ट्रांजिट रिमांड पर ले कर चली गई। 

कोरिया जिले में दर्ज हुआ था मामला

मिली जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के चरचा थाने में 104 /22 कांड संख्या दर्ज की गई थी इस मामला में फुलवारी शरीफ ईसापुर निवासी अजमत ताज पिता फखरुद्दीन ताज एवं उनकी पत्नी नगमा परवीन को अभियुक्त बनाया गया था। इन पर 420 ,467, 468, 471, 34 भादवी के तहत मामला दर्ज किया गया था। मामला दर्ज होते हैं फर्जी निकासी के मामले में पुलिस ने जब अनुसंधान शुरू किया तो इस मामले में कई चौंकाने वाली बातें सामने आई। पुलिस विभाग के एक अधिकारी बताते हैं कि इस साइबरक्राइम का मास्टरमाइंड दिल्ली के गुड़गांव में बैठा है। 

मोबाइल लोकेशन से मिली जानकारी

छत्तीसगढ़ में मामला दर्ज होते हैं वहां के पुलिस ने अनुसंधान शुरू किया तो टावर लोकेशन के आधार पर छत्तीसगढ़ की पुलिस अजमत ताज एवं नगमा परवीन दोनों को मोबाइल के टावर लोकेशन को ट्रैक करते हुए फुलवारी शरीफ ईसापुर पहुंचे और उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने उनके पास से एक स्कूटी गाड़ी जिसका नंबर BR01FP/2701 है। 

इसके अलावा पुलिस ने उनके पास से 11 हजार रुपए भी जब्त किए हैं। पूरे रैकेट का पर्दाफाश चर्चा थाना के एसआई ममता क्रिकेटा और द्विवेदी की टीम ने की है। दोनों पति-पत्नी को फुलवारी के ईसापुर से गिरफ्तारी के बाद न्यायालय में पेश कर दोनों को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर छत्तीसगढ़ की पुलिस अपने साथ चली गयी।


Find Us on Facebook

Trending News