साथ में थी जाने देने की तैयारी, प्रेमी के जहर खाते ही प्रेमिका ने बदल दिया इरादा, छोड़कर हो गई फरार

साथ में थी जाने देने की तैयारी, प्रेमी के जहर खाते ही प्रेमिका ने बदल दिया इरादा, छोड़कर हो गई फरार

MUNGER : आम तौर पर प्यार में लोग एक दूसरे के साथ जान देने को भी तैयार रहते हैं। यहां भी एक प्रेमी जोड़े ने समाज के विरोध के बाद साथ में मरने की पूरी तैयारी कर ली थी। लेकिन, कहानी में तभी ट्विस्ट आ गया। साथ में मरने को तैयार प्रेमी जोड़े में युवक ने तो जहर पी लिया, लेकिन प्रेमिका ने अपना इरादा बदल दिया और वह अपने मरते हुए प्रेमी को छोड़कर भाग गई। गंभीर स्थिति में प्रेमी को इलाज के लिए मुंगेर सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा है।

प्यार की यह ट्विस्ट वाली कहानी मुंगेर जिले के के नयारामनगर थाना क्षेत्र के मुस्तफाचक गांव की है। जहां रहनेवाले प्रभुदास के पुत्र सोनू कुमार का अपने ननिहाल जिले के गालिमपुर लोहची में हमेशा आना जाना लगा रहता था। ननिहाल में ही सोनू को एक विवाहिता से प्रेम हो गया। दोनों को प्रेम एक साल से चल रहा था। जिससे उनकी आशिकी गहरी होती चली गई। दोनों साथ में जीने मरने की कसमें खाने लगे। 

पति ने भेज दिया मायके

गड़बड़ी तब हुई जब विवाहिता के पति को इस प्रेम कहानी की जानकारी मिली। गुस्साए पति ने विवाहिता को उसके मायके अभयपुर राजवाटी गांव भेज दिया। इधर सोनू भी काम करने के लिए लुधियाना चला गया।  लेकिन इसके बाद भी सोनू के साथ प्रेम कम नहीं हुआ। पिछले दिनों लड़की के बुलावे पर सोनू लुधियाना से मुंगेर आया। मुंगेर आते ही वह सीधे अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर पहुंच गया। लेकिन लड़की के परिजन ने सोनू के साथ लड़की को जाने नहीं दिया।

साथ में मरने को हो गया तैयार

परिवार के विरोध के कारण सोनू और उसकी प्रेमिका ने साथ में जान देने की योजना बना ली। रविवार को दोनों जहरीला पदार्थ लेकर लखीसराय जिले के अभयपुर थाना क्षेत्र के राजवाटी गांव के बहियार चले गये। यहीं पर पूरी प्रेम कहानी बदल गई। आशिकी में डूबे सोनू ने तो जहर सेवन कर लिया। लेकिन प्रेमिका इतनी हिम्मत नहीं जुटा सकी और वह जान देने की जगह वहां से भाग गई। 

वहीं गांव के बहियार के अड्डा पर एक युवक को गंभीर स्थिति में लोगों ने देखा. उसके मुंह से झाग निकल रहा था। जिसके बाद उसे मुंगेर सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया और परिजनों को इसके बारे में सूचित किया गया। वहीं मौत के मुंह से निकलने के बाद भी सोनू के सिर से आशिकी का भूत नहीं उतरा है। वह दुखी है. लेकिन उसका कहना है कि वह उसके बिना नहीं रह सकता है. इसलिए दोनों ने मरने का निर्णय लिया था.

Find Us on Facebook

Trending News