सामने आएगी मौत की सच्चाई : महिला थाना प्रभारी की मौत पर घिरी झारखंड सरकार, हाईकोर्ट ने दिए सीबीआई जांच के आदेश

सामने आएगी मौत की सच्चाई : महिला थाना प्रभारी की मौत पर  घिरी झारखंड सरकार, हाईकोर्ट ने दिए सीबीआई जांच के आदेश

PATNA : तीन माह पहले साहिबगंज जिले की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की मौत की जांच अब सीबीआई करेगी। मृतका के पिता ने झारखंड हाईकोर्ट में क्रिमिनल रिट दायर कर पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की थी. जिसके बाद हाईकोर्ट ने मामले में सुनवाई के बाद यह फैसला सुनाया है। 

साहिबगंज महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की 3 मई 2021 को मौत हो गई थी। उस समय यह कहा गया था कि उन्होंने आत्महत्या की है, लेकिन पिता सहित कई लोगों ने पुलिस जांच पर सवाल उठाते हुए आत्महत्या करने की बात को बिल्कुल गलत ठहराया था। परिवार का कहना था कि रूपा तिर्की की हत्या की गयी है और बाद में उसे आत्महत्या की शक्ल प्रदान कर मामले को रफा दफा करने की कोशिश की गई है। मृत महिला थाना प्रभारी के पिता सहित अनुरंजन अशोक और तीरथ नाथ आकाश ने भी साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की आत्महत्या मामले को लेकर झारखंड हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की थी.

इससे पहले सुनवाई के दौरान वरीय अधिवक्ता आरएस मजूमदार और राजीव कुमार ने कहा कि पुलिस इस मामले को शुरू से ही प्रेम प्रसंग में आत्महत्या बता रही है। जब घटनास्थल पर पुलिस पहुंचती है और रूपा तिर्की का मोबाइल देखती है, तभी अपनी फाइंडिंग दे देती है। अदालत को बताया गया कि साहिबगंज में पंकज मिश्रा नामक एक राजनीतिक रसूख वाल व्यक्ति संदेह के घेरे में है। रूपा की मौत के बाद एसआइटी हेड डीएसपी से पंकज मिश्रा की कई बार बात हुई है। पूर्व में अदालत में पंकज मिश्रा का कॉल डिटेल पेश करते हुए कहा गया कि एसपी, डीसी और डीएसपी से उसकी लगातार बात हुई है। 

पीएम रिपोर्ट में शरीर पर थे जख्म के निशान

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रूपा तिर्की की मौत से पहले उसके शरीर पर जख्म के निशान थे। रूपा तिर्की के पिता देवानंद उरांव ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। जिसमें कहा गया है कि रूपा ने आत्महत्या नहीं की है, बल्कि उसकी हत्या कर दी गई है। पुलिस इसे प्रेम प्रसंग का मामला बता आत्महत्या का रंग दे रही है। उनकी बेटी की मौत के बाद जिस परिस्थिति में शव मिला था, उससे प्रतीत होता है कि वह आत्महत्या नहीं है।

महाधिवक्ता ने कहा - एएसआई से थे प्रेम प्रसंग

वहीं सरकार की तरफ को कोर्ट में अपना पक्ष रखने पहुंचे महाधिवक्ता राजीव रंजन ने इन आरोपों को गलत बताया और कहा कि रूपा तिर्की ने आत्महत्या की है। पुलिस अनुसंधान में यह बात सामने आई है। रूपा के कॉल डिटेल और मैसेज से भी यह प्रमाणित हुआ है कि उसका एक एएसआई से प्रेम प्रसंग चल रहा था। रूपा के मैसेज से भी आत्महत्या की बात सामने आई है। महाधिवक्ता ने कहा कि रूपा की मौत की जांच के लिए सरकार ने कमीशन ऑफ इंक्वायरी गठित की है। रिटायर चीफ जस्टिस बीके गुप्ता इसकी जांच कर रहे हैं।   

Find Us on Facebook

Trending News