भागलपुर पहुंचे टीवी के "सुजल" राजीव खंडेलवाल, मंजूषा कला की बारिकियों पर ली जानकारी

भागलपुर पहुंचे टीवी के "सुजल" राजीव खंडेलवाल, मंजूषा कला की बारिकियों पर ली जानकारी

BHAGALPUR :- भारतीय टीवी इंडस्ट्री के लोकप्रिय कलाकार राजीव खंडेलवाल बुधवार को भागलपुर पहुंचे, जहां उन्होंने अंग प्रदेश की लोकप्रिय मंजूषा कला की बारिकियों के बारे में जानकारी ली। इस दौरान राजीव खंडेलवाल बेहद उत्साहित नजर आए और कलाकारों के बीच बैठकर उनसे मंजूषा कला के बार में जानकारी हासिल की। बता दें राजीव खंडेलवाल टीवी से सबसे लोकप्रिय कलाकारों में शामिल है। दर्शकों के बीच उनकी पहचान उनके किरदार सुजल के रूप में आज भी है। वह कई फिल्मों में भी बतौर अभिनेता नजर आ चुके हैं। 

मंजूषा कला पर डॉक्यूमेंट्री के लिए पहुंचे थे राजीव

अंग प्रदेश की धरोहर मंजूषा कला को जन जन तक पहुंचाने के लिए एवं विभाग के लिए मंजूषा कला पर डॉक्यूमेंट्री तैयार करने  विनोद राजपूत की पूरी टीम डायरेक्टर दिव्या भारद्वाज खुश खंडेलवाल इत्यादि मंजूषा कला प्रशिक्षण केंद्र बरारी भागलपुर पहुंची थी। जहां मंजूषा गुरु मनोज कुमार पंडित जी से मंजूषा कला की विस्तृत जानकारी के साथ साथ इस कला में रंगों का प्रयोग प्राकृतिक रंग तैयार करने की विधि और जितने भी पाठक गुरु जी ने तैयार कर इस कला को और कलाकारों को जीवित रखने का प्रयास किया यह सारी जानकारी गुरुजी से प्राप्त किए।  साथ ही साथ तमाम शिक्षा का चित्रण करते हुए अलग-अलग प्रोडक्ट और खास करके मंजूषा पेंटिंग की बारीकी को अपने कैमरे में कैद किए। इस डॉक्यूमेंट्री का प्रसारण डीडी नेशनल पर भी प्रसारित किया जाएगा।

शनिवार और रविवार इसमें प्रमुख भूमिका हीरो सेलिब्रिटी एवं टीवी स्टार राजीव खंडेलवाल कला के बारे में और लोगों को इस प्रसारण के माध्यम से मंजूषा को जन जन तक पहुंचाने के लिए पहुंचे थे. जिसमें दर्जनों मंजूषा कलाकार और वर्तमान की मंजूषा कला के वरिष्ठ कलाकार बिहार कला पुरस्कार से सम्मानित श्रीमती निर्मला देवी भी पोस्ट उपस्थित थे. कार्यक्रम में सहयोग अमन सागर पवन कुमार सागर सुजीत और आंचल का मंजूषा कला प्रशिक्षण केंद्र के प्राचार्य श्रीमती सुमना का विधि व्यवस्था में सराहनीय सहयोग रहा प्रतिभागियों में प्रीति कुमारी, बरसा कुमारी, छोटी कुमारी, मधु कुमारी, सुमना, बिना मिश्रा, सविता पाठक, पूनम कुमारी, बेबी देवी, सृष्टि श्री, अमन, पवन, सुजीत, आंचल, गीता देवी, अर्चना कुमारी, स्वीटी माला घोष, मोनी कुमारी, जुली कुमारी, रीना देवी, दिनेश दास, संजीत रावत का सराहनीय योगदान रहा।

Find Us on Facebook

Trending News