लता मंगेशकर की याद में दो दिवसीय राष्ट्रीय शोक, आज शाम 4.30 बजे होगा अंतिम संस्कार

लता मंगेशकर की याद में दो दिवसीय राष्ट्रीय शोक, आज शाम 4.30 बजे होगा अंतिम संस्कार

मुंबई. स्वर कोकिला लता मंगेशकर के निधन पर भारत सरकार ने दो दिवसीय राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है. उनके सम्मान में केंद्र सरकार ने देश में राष्ट्रीय शोक की घोषण की. इस दौरान लता मंगेशकर के सम्मान के रूप में दो दिनों तक राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा. उनका अंतिम संस्कार रविवार शाम 4.30 बजे होगा.

रविवार सुबह 8.12 बजे लता मंगेशकर ने मुम्बई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में अंतिम साँस ली. वे पिछले 28 दिनों से अस्पताल में भर्ती थी. शनिवार को तबियत ज्यादा बिगड़ने के बाद रविवार को उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया. 92 वर्षीय लता मंगेशकर ने 13 साल की उम्र से ही गाना शुरू किया था. उन्होंने हिंदी के अलावा कई अन्य भाषाओँ में हजारों गाने गाये.

इसके पूर्व शनिवार रात केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल भी ब्रीच कैंडी अस्पताल पहुंचे. वहां पर उन्होंने लता मंगेशकर का हालचाल हालचाल जाना. मीडिया से बातचीत में उन्होंने बताया, 'मैंने उनके परिवार को पीएम मोदी का संदेश दिया और कामना की कि वह जल्द ही ठीक हो जाएं. हम सभी उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं. उनके पहले ब्रीच कैंडी अस्पताल में आशा भोसले बहन लता से मिलने पहुंची. मुलाकात के बाद उन्होंने मीडिया को बताया कि डॉक्टर ने कहा है कि वह (लता मंगेशकर) की हालत अब स्थिर है. हालाँकि सुबह 8.12 बजे लता ने अंतिम साँस ली और एक युग का अवसान हो गया. 

ताजी करीब एक महीने से बीमार थीं। उन्हें 8 जनवरी को कोरोना पॉजिटिव होने के बाद मुंबई के ब्रीच क्रैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लता को कोरोना के साथ ही निमोनिया भी हो गया था। लता जी की ज्यादा उम्र को देखते हुए डॉक्टर्स ने उन्हें शुरू से ही आईसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया था। 7 डॉक्टरों की टीम लगतार उनके इलाज में लगी हुई थी। 

हालांकि इलाज के दौरान कुछ दिन पहले उन्हें वेंटिलेटर से हटाया गया था। हालांकि, तबीयत बिगड़ने के बाद दोबारा वेंटिलेटर सपोर्ट पर रख दिया गया था। सोशल मीडिया पर लता मंगेशकर  के निधन की खबर सुन फैंस और सेलेब्स शॉक्ड हैं। हर भारतीय की आंखों में आंसू हैं। लता मंगेशकर की सुरीली आवाज अब हमेशा के लिए मौन हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लता मंगेशकर को अपने एक कर्मचारी की वजह से कोरोना हुआ। बताया जा रहा है कि लता जी के घर में काम करने वाला कर्मचारी पहले कोरोना की चपेट में आ गया था। 

2019 में भी हुआ था निमोनिया :

बता दें कि  92 साल की स्वर कोकिला को नवंबर 2019 में भी निमोनिया हो गया था। उस समय उन्हें सांस लेने में भी तकलीफ हुई थी और उन्हें 28 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहना पड़ा था। तब लताजी (Lata Mangeshkar) की अच्छी सेहत के लिए खुद पीएम मोदी ने भी ट्वीट किया था। लता मंगेशकर का म्यूजिक इंडस्ट्री में योगदान अतुलनीय था। 78 साल के करियर में लता मंगेशकर ने 25 हजार से ज्यादा गाने गाए। लता जी को तीन बार नेशनल अवॉर्ड मिला। इसके अलावा दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड और भारत रत्न से भी उन्हें नवाजा जा चुका है।  






Find Us on Facebook

Trending News