भागलपुर में वाहन जांच के दौरान हंगामा, कई लोगों को पुलिस ने दौड़ा दौड़ाकर बेरहमी से पीटा

भागलपुर में वाहन जांच के दौरान हंगामा, कई लोगों को पुलिस ने दौड़ा दौड़ाकर बेरहमी से पीटा

BHAGALPUR  : भागलपुर में मधुसूदनपुर टीओपी  क्षेत्र के गनौरा बाधरपुर में मिथिला कॉलोनी के समीप वाहन चेकिंग के क्रम में पुलिस और वाहन चालक के बीच में किसी बात को लेकर काफी हंगामा हो गया। इस दौरान वाहन चालक ने मधुसूदनपुर पुलिस पर बेवजह पिटाई करने का आरोप लगाया है। इस संबंध में पंकज कुमार ने बताया कि उनका पुत्र बिना हेलमेट के बाइक से आ रहा था। इसी दौरान मौके पर वाहन जांच कर रहे पुलिस कर्मियों ने उन्हें बिना हेलमेट में रहने के कारण जुर्माना देने  के लिए कहा। इसके पश्चात उन्होंने जुर्माना भी दिया, लेकिन पुलिस द्वारा गाली गलौज करने पर उन्होंने इसका विरोध किया। जिसके बाद पुलिस कर्मियों ने उनके पुत्र और साथ में मौजूद पुत्री की जमकर पिटाई कर दी। 

इसके बाद मौके पर मौजूद ग्रामीणों द्वारा पुलिस की इस करतूत का विरोध होना शुरू हो गया। इस दौरान टीओपी प्रभारी मिथलेश कुमार के नेतृत्व में कई और पुलिसकर्मी घटनास्थल पर पहुंच गए। इसके बाद आसपास खड़े कई निर्दोष लोगों को भी पुलिस ने बेरहमी से पीटा है। इसके बाद भी जब बेरहम पुलिस वालों का मन नहीं भरा तो इन लोगों ने बीच बचाव कराने आए पीड़ित बाइक चालक के परिजनों को पीटना शुरू कर दिया। पीड़ित बाइक चालक के परिजन और अन्य ग्रामीणों की मानें तो पुलिस वालों ने लड़की और महिला तक को नहीं बख्शा। जबकि पुलिस की इस घिनौनी करतूत का वीडियो भी एक बच्चे ने बना लिया था। लेकिन दुर्भाग्यवश पुलिस की नजर वीडियो बना उक्त बच्चे पर पड़ गई। फिर क्या था, पुलिस वालों ने अपनी इस घिनौनी हरकत पर परदा डालने के लिए बच्चे की पिटाई कर उनके हाथ से मोबाइल छीन लिया। मधुसुदनपुर पुलिस की पिटाई में घायल पीड़ितों के आंखों में आंसू आ गए। 

दर्द से कराहते ये पीड़ित घटना के बाद पुलिस के उस क्रूरता का दास्तां बता रहा है। जिसमें केवल और केवल दर्द और कुछ पुलिस वालों के असंवेदनशील रवैयों की कहानी है। महिला परिजन जो पुलिस की पिटाई में घायल हैं रोते हुए कहते हैं कि पुलिस वालों ने जुर्माना देने के बाद भी उनके बेटे को पीटा है। पहले पुलिस वाले शांत थे लेकिन एक स्थानीय जमीन कारोबारी के कहने पर पुलिस ने उन लोगों की पिटाई की है। यही नहीं पुलिस पिटाई में घायल ग्रामीण सुरेश ठाकुर बताते हैं कि वह तो वहां से  गुजर रहे थे। उस इस घटना के बारे में पता भी नहीं था। लेकिन थाना के एक पुलिस कर्मी अनमोल कुमार के साथ मिलकर टीओपी प्रभारी मिथलेश कुमार ने उनकी पिटाई की है। यही हाल पैरू पासवान का है। 

पुलिस वालों ने बिना किसी गलती के उनकी बेरहमी से पिटाई की है। वहीं दूसरी ओर इस घटना के बाद एसएसपी सिटी एसपी और सिटी एएसपी से भी संपर्क करने का प्रयास किया गया। लेकिन फोन रिसीव नहीं होने के कारण पुलिस का पक्ष नहीं लिया जा सका है। इस दौरान कुछ ग्रामीणों ने बताया कि मधुसूदनपुर पुलिस की कार्यशैली से ग्रामीण काफी आहत हैं। ग्रामीणों की मानें तो गनौरा बाधरपुर के कई दुकानों में गांजा की बिक्री धड़ल्ले से होती है। पिछले कुछ महीनों पहले  करीब सैकड़ों ग्रामीणों ने उक्त दुकानों में गांजा की बिक्री होने की लिखित सूचना पुलिस को दिया था। लेकिन कार्रवाई के नाम पर पुलिस ने सिर्फ खानापूर्ति किया है। इन सब के बीच सारे आरोपों में कितनी सच्चाई है ये तो जांच के बाद ही पता चल पाएगा।

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News