बर्थडे स्पेशल: वैजयंती माला, देवदास की चंद्रमुखी

बर्थडे स्पेशल: वैजयंती माला, देवदास की चंद्रमुखी

फिल्म का सेट, चारों तरफ भीड़ लगी है, फिल्म के सीन में नायिका को गोली लगी है. नायक बार बार बोल रहा है तुम्हें कुछ नहीं होगा. दोनों के आंखों से आंसू निकल रहे हैं लेकिन नायिका आखिरकार नायक के बांहों में दम तोड़ देती है, फिल्म का सीन तो खत्म हो जाता है मंगर सीन इतना जीवंत था कि डाइरेक्टर कट कहना ही भूल गया, नायिका कुछ देर तो निर्जीव पड़ी रही मगर जब सांस रोकना असह्य हो गया इशारा किया. तब निर्देशक की तंद्रा टूटी और उन्होंने कट के साथ शॉट ओके कर दिया. दृश्य को जीवंत करने वाली नायिका वैजयंती माला थीं और फिल्म थी गंगा जमुना.


महज 13 साल की उम्र में तमिल इंडस्ट्री में कदम रखने वाली एक्ट्रेस वैजयंती माला 13 अगस्त को अपना 82वां जन्मदिन मना रही हैं। वैजयंती माला न केवल जबरदस्त एक्ट्रेस हैं बल्कि मशहूर क्लासिकल डांसर भी हैं। वैजयंती माला ने फिल्म इंडस्ट्री पर कई दशक तक राज किया। हालांकि शादी के बाद वैजयंती माला ने फिल्मों से दूरी बना ली थी। तो चलिए वैजयंती माला के जन्मदिन पर हम आपको उनसे जुड़ी कुछ दिलचस्प बाते बताते हैं, मशहूर एक्ट्रेस वैजयंती माला का जन्म चेन्नई के तमिल ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम एम डी रमन और मां का नाम वसुंधरा देवी थी। वैजयंती माला में एक्टिंग का गुण अपनी मां से आया। उनकी मां 1940 के दशक की फेमस तमिल एक्ट्रेस थीं। वैजयंती माला ट्रेंड क्लासिकल डांसर हैं। 7 साल की उम्र से ही वैजयंती माला ने 1940 में वैटिकन सिटी में परफॉर्म किया था। इसके अलावा 13 साल की उम्र में उन्होंने तमिलनाडु में स्टेज परफॉर्मेंस देने लगी थीं। वैजयंती माला पहली ऐसी साउथ सुपरस्टार हैं जो कि नेशनल स्टार बन गई थीं। वैजयंती माला ने अपने अभिनय से बॉलीवुड में आने की राह बाकी एक्ट्रेस के लिए आसान कर दी थी। वैजयंती माला ने न केवल साउथ फिल्मों बल्कि हिंदी सिनेमाजगत में भी सुपरहिट फिल्में दी हैं। इन फिल्मों के नाम मधुमति, नया दौर, लीडर , ज्वैल थीफ और संगम हैं। महज 13 साल की उम्र में वैजयंती माला ने तमिल इंडस्ट्री में कदम रखा था। वैजयंती माला की पहली फिल्म 'वड़कई' थी। इसके बाद 1950 में वैजयंती माला की फिल्म 'जीवितम' रिलीज हुई। दोनों फिल्मों की सफलता के बाद वैजयंती माला ने बॉलीवुड की ओर रुख किया। बॉलीवुड में वैजयंती माला ने 'बहार' और 'लड़की' फिल्म में काम किया। इसके बाद आई 'नागिन' फिल्म की अपार सफलता के बाद वह ज्यादातर हिंदी फिल्में करने लगीं। अपने फिल्मी करियर में वैजयंती माला ने सभी एक्टर्स के साथ काम किया। जिसमें राज कपूर, देव आनंद और दिलीप कुमार के साथ उनकी जोड़ी लोगों को खूब रास आई। कहा जाता है वैजयंती माला और राज कपूर का अफेयर था।  यह दोनों एक साथ बड़े परदे पर 'नजराना' और 'संगम' फिल्म में नजर आए थे।  राज कपूर के अलावा वैजयंती माला का नाम दिलीप कुमार के साथ भी जुड़ चुका है। एक इंटरव्यू के दौरान हेमा मालिनी वैजयंती माला को अपनी प्रेरणा का स्त्रोत बताया था। हेमा मालिनी ने कहा था - 'मैं वैजयंती माला को काफी पसंद करती हूं। मैं उन्हीं के कदमों पर चलने की कोशिश करती हूं। अधिक उम्र होने के बाद भी वह जबरदस्त डांस करती हैं।' वैजयंती माला ने साल 1968 में चमनलाल बाली से शादी कर ली थी। इसके बाद से उन्होंने फिल्मों से दूरी बना ली हालांकि वह डांस से अपना नाता नहीं तोड़ पाई। शादी के बाद भी वैजयंती माला ने क्लासिकल डांस करना नहीं छोड़ा। बॉलीवुड में वह अपनी एक्टिंग के अलावा डांस की वजह से भी जानी जाती हैं। वैजयंती माला ने साल 1957 में देवदास फिल्म में चंद्रमुखी का किरदार निभाया था जिसके लिए उन्हें फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला था। इसके अलावा वैजयंती माला मधुमती, गंगा जमुना और संगम फिल्म में जबरदस्त अभिनय के कारण फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ एक्ट्रेस के अवॉर्ड से ही सम्मानित की जा चुकी हैं।

13 अगस्त, 1936 को पैदा हुईं वैजयंतीमाला ने इन तमाम स्टीरियोटाइप्स को तोड़-मरोड़कर अपने मन-माफ़िक बना दिया. और बदले में उन्हें कहा गया ‘भारतीय फिल्म इतिहास की पहली महिला सुपरस्टार’. जब उन्हें सपोर्टिंग रोल के लिए फिल्मफेर दिया जा रहा था तो उन्होंने अवार्ड को यह कहकर ठुकरा दिया कि 'देना है तो मुझे बेस्ट एक्टर का अवार्ड दो, सपोर्टिंग का नहीं'


Find Us on Facebook

Trending News