नालंदा में अस्पताल को लेकर ग्रामीणों ने की पेट्रोल डालकर आत्मदाह की कोशिश, प्रशासन ने मांग पूरी करने का दिया आश्वासन

नालंदा में अस्पताल को लेकर ग्रामीणों ने की पेट्रोल डालकर आत्मदाह की कोशिश, प्रशासन ने मांग पूरी करने का दिया आश्वासन

NALANDA : परबलपुर प्रखंड के सोनचरी गांव में निर्मित हो रहे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का मामला दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। परवलपुर प्रखंड में अस्पताल बनाने की मांग को लेकर पूर्व की घोषणा के तहत समाजसेवी रामकली देवी के नेतृत्व में 5 लोग आज आत्मदाह करने प्रखंड कार्यालय पहुंचे। जहां सभी ने भारी भीड़ के बीच में अपने ऊपर पेट्रोल छिड़कर लाग लगाने की कोशिश की। जिससे कुछ देर के लिए अफरा तफरी का माहौल कायम हो गया। 


हालांकि पूर्व से तैनात पुलिस के जवानों ने किसी तरह उनके हाथ से माचिस का डब्बा छीन लिया। मौके पर मौजूद हिलसा एसडीओ और डीएसपी, बीडीओ व अन्य अधिकारियों के परबलपुर में अस्पताल बनाने का लिखित आश्वासन मिलने के बाद इनलोगों ने आत्मदाह को रोक दिया। इस दौरान प्रखंड कार्यालय परिसर में तिल रखने की भी जगह नहीं थी। भारी संख्या में लोग परवलपुर प्रखंड मुख्यालय में ही अस्पताल बनाने की मांग को लेकर पहुंचे थे। इस मौके पर समाजसेवी रामकली देवी ने बताया कि प्रखंड मुख्यालय से 4 किलोमीटर दूर सोंचरी गांव में 7 करोड़ की लागत से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण कराया जा रहा है। जिससे दर्जनों गांव के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ जाएगा। 

वहीं दूसरी ओर सोंचरी गांव मैं अस्पताल बनाने की मांग को लेकर दूसरे पक्ष के लोग भी अड़े हुए हैं। लोगों का आरोप है कि जब 75 डिसमिल जमीन अस्पताल के लिए उपलब्ध करा दिया गया। किसी तरह की कोई आपत्ति नहीं होने पर जिलाधिकारी ने इसके निर्माण की स्वीकृति दी। इसके बाद एक पक्ष के लोग जबरन अब प्रखंड मुख्यालय के समीप अस्पताल बनाने की मांग कर रहे हैं, जो सरासर गलत है। अगर वे लोग आंदोलन के मूड में है तो हम लोग भी आर-पार की लड़ाई लड़ने को तैयार हैं। 

हिलसा के अनुमंडल पदाधिकारी ने बताया कि वरीय पदाधिकारी के निर्देश पर तत्काल लोगों को लिखित आश्वासन दिया गया है। आगे जिस तरह से मार्गदर्शन मिलेगा उस तरह के कार्य किए जाएंगे।

नालंदा से राज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News